कटिहार : बिहार में अपराधियों के बुलंद हौसले कम होने का नाम नहीं ले रहा है. यही वजह है कि बेखौफ अपराधियों ने कटिहार जिला के कुर्सेला से एक पेट्रोल पंप मालिक के चार साल की बेटी का अपहरण कर लिया. अपराधियों ने इस घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब बच्ची स्कूल से घर लौट रही थी. पेट्रोल पंप मालिक भानु अग्रवाल की चार साल की बेटी स्पर्श उर्फ छवि अग्रवाल एनवीआर (NVR) स्कूल की छात्रा है, स्पर्श यूकेजी-2 की छात्रा है.
स्कूल से लौटते वक्त अगवा
जानकारी के अनुसार रोज की तरह स्पर्श अपने स्कूल से बुधवार को दोपहर 2 बजे घर लौट रही थी. घर जाने के लिए स्पर्श एनएच-31 पर पुराने पेट्रोल पंप के पास बस से उतरी. बस स्टॉप पर पहले से ही मिथुन नाम का एक व्यक्ति खड़ा था जो स्पर्श के पिता भानु अग्रवाल के यहां पहले काम करता था. बस स्टॉप से ही स्पर्श को अगवा कर लिया गया. अपहरणकर्ता स्पर्श को बोलेरो से लेकर फरार हो गया. बच्ची का कोई सुराग नहीं मिला पा रहा है. परिजन स्पर्श को ढूंढने में परेशान हैं और परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है. स्पर्श की सकुशल बरामदगी के लिए घर में पूजा पाठ किया जा रहा है.
पुराना ड्राइवर शक के घेरे में
स्पर्श के परिवार वालों ने उसके अपहरण की आशंका व्यक्त करते हुए कुर्सेला थाना में मामला दर्ज करा दिया है. स्पर्श के पिता भानु अग्रवाल ने आशंका जाहिर की है कि मिथुन ने ही स्पर्श का अपहरण किया है. भानु अग्रवाल का कहना है कि चूंकि उसने अपने पुराने ड्राइवर मिथुन को नौकरी से हटा दिया था, इसलिए हो सकता है उसी ने इस घटना को अंजाम दिया हो. पुलिस मामला दर्ज होने के बाद स्कूल के ड्राइवर मुकेश को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. पुलिस स्कूल के ड्राइवर से मिथुन के बारे में जानकारी लेने की कोशिश कर रही है.
सीमाओं पर तलाशी अभियान
स्पर्श के पिता भानु अग्रवाल के अनुसार अपहरणकर्ताओं ने अबतक फिरौती के लिए कोई फोन नहीं किया है. इधर कटिहार के पुलिस कप्तान सिद्धार्थ मोहन जैन इस पूरी घटना पर खुद नजर रखे हुए हैं और खुद ही कमान संभाले हैं. भागलपुर, पूर्णिया और नेपाल जाने के रास्ते सील कर दिए गए हैं. उम्मीद ये भी जताई जा रही है कि अपहरणकर्ता स्पर्श को लेकर नेपाल भी जा सकते हैं. हालांकि जिस बोलेरो गाड़ी से बच्ची का अपहरण हुआ था वो लावारिश हालत में सहरसा के पास मिली.

bihar_147034790475_650x425_080516033212

LEAVE A REPLY