20160812_093724
गोपालगंज : आपदा प्रबंधन कार्यक्रम के तहत केन्द्रीय विद्यालय गोपालगंज में नेशनल डिजास्टर रिस्पोंस फोर्स के विशेषज्ञों ने आपदा प्रबंधन और इससे बचाव व सुरक्षा पर विद्यालय के बच्चो एवं शिक्षको को प्रशीक्षण दिया , प्रशिक्षण कार्यक्रम में आकस्मिक रूप से घटित होने वाली प्राकृतिक व मानव निर्मित आपदाओं से बचाव व सुरक्षा का डेमो पेश किया। विद्यालय के बच्चो एवं शिक्षको ने बाढ़ से बचाव, भूकंप, 20160812_12271020160812_094011आग, सुनामी, रसायन लीकेज, सूखा सहित अन्य आपदाओं से बचने की जानकारी प्राप्त की। प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान नेशनल डिजास्टर के सहायक कमांडेंट ने आपदा प्रबंधन विषय के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्राकृतिक व मानव निर्मित आपदा से बचने के लिए सतर्कता के साथ उपाय भी जरूरी है। प्रकृति वाली आपदाओं के अंतर्गत भूकंप, सुनामी, बाढ़, आग, तूफान, रसायन एवं रेडियएशन संबंधी आपदाओं से बचने के लिये सुरक्षा के क्या प्रबंधन होने चाहिए। आपदा प्रभावितों को सर्वप्रथम सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और उन्हें चिकित्सकीय सहायता के लिए क्या कदम उठाए जाएं। प्रशिक्षण में आपदा प्रबंधन के अधिकारियों द्वारा आपदा के दौरान उपयोग मे लाए जाने वाले आधुनिक उपकरणों का प्रदर्शन भी किया गया। प्रशिक्षण में मानव निर्मित आपदाओं जैसे घातक बम विस्फोट की स्थिति में उत्सर्जित होने वाली घातक गैसों व विकिरणों से बचाव व सुरक्षा के उपाय भी बताया गया। आपदा प्रबंधन के अंतर्गत भौगोलिक संरचना के अनुरूप होने वाली संभावित आपदाओं से निपटने के लिए आवश्यक तैयारी का कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण है, आपदा ग्रस्त क्षेत्रों का सर्वे, होने वाले नुकसान का आंकलन, आपदा प्रभावितों के बचाव व उनकी सुरक्षा, उन्हें भोजन, पानी एवं चिकित्सा आदि की उपलब्धता और अंत में पुर्निर्माण का कार्य, आपदा प्रबंधन के प्रमुख अंग हैं। इसके अलावा अन्य जानकारियां भी दी गई। वही कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्राचार्य डा० वी० एस० मिश्रा ने कहा कि आपदा के समय में अपनी सुरक्षा के साथ – साथ समाजिक सुरक्षा का ज्ञान सभी के लिए बहुत जरूरी है , हमे इसके लिए आपदा से पहले और आपदा के बाद बचाव के उपायों की जानकारी अति आवश्यक है इसके लिए मै विद्यालय परिवार कि तरफ से इस महत्वपूर्ण जानकारी के लिए धन्यवाद देता हु , आपदा के समय सतर्कता और आपदा से बचाव कि जानकारी ही सबसे बड़ा आपदा प्रबंधन है , सभी ब्यक्ति को दुर्घटना के समय प्राथमिक उपचार कि जानकारी होना अति आवश्यक है , अगर प्राथमिक उपचार सही समय पर हो जाय तो दुर्घटना से पीड़ित ब्यक्ति का खतरा पहले से ही कम हो जाता है , मौके पर विद्यालय के शिक्षक त्रिवेणी प्रसाद , सुधाकर मिश्रा , रामाशंकर सिंह , हरेन्द्र नाथ ओझा , संजय कुमार शर्मा ,धनंजय कुमार , शैलेश कुमार पाण्डेय , निशा वीसी , ऋतू तिवारी सहित विद्यालय के सभी शिक्षक मौजूद थे .

LEAVE A REPLY