download (1)

गोपालगंज में संदिग्ध स्थिति में 13 लोगों की मौत हो गई है और 4 की स्थिति गंभीर बनी हुई है। परिजनों के मुताबिक मौत जहरीली शराब पीने से हुई है, प्रशासन ने इस बात से इंकार किया है।

गोपालगंज जिले में संदिग्ध हालत में 13 gopalganj2_1471410989लोगों की मौत हो गयी जबकि 4 लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए हैं, सदर अस्पताल में इनका इलाज चल रहा है। घटना के पीछे जहरीली शराब पीने की वजह बताई जा रही है। हालांकि पुलिस और प्रशासन फिलहाल इस बात से इंकार कर रहे है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए जिलाधिकारी राहुल कुमार और एसपी रवि रंजन कुमार सदर अस्पताल पहुंचे हैं और चिकित्सकों के साथ बैठक कर इस बारे में पूरी गंभीरता से चर्चा कर रहे हैं। सदर अस्पताल में मृतकों के परिजनों की चीत्कार मची हुई है। लोगों की भीड़ जमा है और लोग परिजनों को सांत्वना दे रहे हैं।

घटना नगर थाना के हरखुआ स्थित खजूरवाड़ी की है। मृतक शशिकांत नगर थाना के नोनिया टोली के रहने वाला है। मृतक के भाई महेश के मुताबिक सोमवार को 15 अगस्त को शराब पीने के लिए खजूरबाड़ी में गया था और उसके साथ नोनिया टोली के उसके साथी भी गए थे। उसके बाद सबकी तबियत अचानक बिगड़ गई।

चर्चा के मुताबिक नगर थाना क्षेत्र के हरखुआ स्थित चीनी मिल के समीप संचालित एक अवैध शराब भट्ठी पर कई लोगों ने मंगलवार को जमकर शराब पी थी। शराब पीने के बाद लोगों की हालत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां सात लोगों की मौत हो गई और सुबह होते ही चार और लोगों की मौत हो गई। अभी भी चार लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

मृतकों में चार लोगों का शव सदर अस्पताल में पड़ा है। पुलिस अन्य शव को घर से बरामद करने की तैयारी में जुटी है।मृतकों की पहचान नगर थाना के नोनिया टोली निवासी परमा महतो (54), मंटू गिरी (34), शशिकांत महतो (24) सरेया मुहल्ले के दिनेश महतो (40),22 मांझा के मझवलिया के उमेश चौहान (34) हरखुआ निवासी रामजी शर्मा (46) , थावे थाना क्षेत्र के विदेशी टोला निवासी मनोज साह (23), श्याम सिनेमा रोड के रामु राम (24), थावे थाना के अमेठी गांव के अनिल राम (31) तथा सिधवलिया के सुरहिया गांव के झमिन्द्र महतो (29) वर्ष शामिल हैं।

अभी भी कई ऐसे बीमार लोग हैं, जिन्हें निजी अस्पताल में भरती कराया गया है। मृतकों की संख्या अभी बढ़ सकती है। परिजनों के मुताबिक मंगलवार को इन सभी लोगों को दोपहर में पेट में दर्द और उल्टी हुई जिसके बाद उन्हें गोपालगंज सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अस्पताल में डॉक्टर नार्मल बीमारी से पीड़ित होने की भर्ती होने और मरने का जिक्र कर रहे हैं, हालांकि परिजन जहरीली शराब पीने से हुई मौत की बात बता रहे हैं । उधर, पुलिस कप्तान रवि रंजन कुमार ने शराब पीने से मौत होने की बात से इनकार किया है।

डीएम राहुल कुमार ने खुद देर रात भी अस्पताल पहुंचकर मामले की पड़ताल की थी और पूरे मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर दिया था। पूरे मामले में पुलिस प्रशासन और सदर अस्पताल के चिकित्सक ने जहरीली शराब पीने से मौत की पुष्टि नहीं की है।

LEAVE A REPLY