हिमाचल प्रदेश: सांसद एवं अध्यक्ष बी.सी.सी.आई. अनुराग ठाकुर कि अध्यक्षता में जिला समन्वय एवं अनुश्रवण समिति की बैठक का हुआ आयोजन
हिमाचल प्रदेश: सांसद एवं अध्यक्ष बी.सी.सी.आई. अनुराग ठाकुर कि अध्यक्षता में जिला समन्वय एवं अनुश्रवण समिति की बैठक का हुआ आयोजन

बिलासपुर, 02 सितम्बरः केन्द्रीय प्रायोजित योजनाओं के क्रियन्वयन व गति देने के उद्देश्य से आज बचत भवन में जिला समन्वय एवं अनुश्रवण समिति की बैठक का आयोजन किया गया । जिसकी अध्यक्षता सांसद एवं अध्यक्ष बी.सी.सी.आई. अनुराग ठाकुर ने  की । उन्होंने जिला के सभी विभागध्यक्षों को केन्द्र सरकार के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन व उन्हें गति प्रदान करने के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए इन योजनाओं को और अधिक गति देने के निर्देश दिए ताकि लोगों को इन योजनाओं का लाभ मिल सके । उन्होंने बताया कि जिला बिलासपुर में शुटिंग रेंज के सेन्टर खोला जाएगा जिसके लिए उन्होंने एसडीएम सदर तथा डीआरओ को संयुक्त रूप से जमीन तलाश कर अन्य सभी औपचारिता पूर्ण करने के लिए कहा । उन्होंने कहा कि आईपीएच, मध्य हिमालयन जलागम प्रोजैक्ट, मनरेगा तथा जायका प्रोजैक्टों के माध्यम से लगाए जा रहे चैकडैमों की गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिस कारण भारी बारीश व बरसात के कारण अधिकतर चैकडैम बह कर चले जाते है और किसानों को उसका फायदा नहीं मिल पाता। उन्होंने किसानों की उपजाउ जमीन को अधिक से अधिक सिंचित करने के उद्देश्य से वाटर शैड मनेजमेंट प्रोजैक्ट के तहत ऐसे स्थानों पर अधिक से अधिक चैकडैम ेलगाने का आग्रह किया जिससे किसानों को खेतों में सिंचाई के लिए उसका लाभ मिल सके ।

      बैठक में स्वस्थ्य, सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता, सड़क, शिक्षा, विद्युत, पेयजल व सिंचाई, केन्द्र सरकार द्वारा खाद्य पदार्थो पर दिए जा रहे उपदान स्वच्छ भारत के तहत निर्मित किए जा रहे शौचालयों, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधान मंत्री आवास योजना तथा डिजीटल इण्डिया इत्यादि से सम्बन्धित विषयों पर विस्तार से चर्चा की गई ।
       बैठक में मनरेगा योजना के कार्य की समीक्षा करते हुए अनुराग ठाकुर ने झण्डूता व घुमारवीं ब्लॉकों में लक्ष्य से कम करवाए गए कार्यों पर चिन्ता व्यक्त करते हुए उन्होंने भविष्य में इन दोनों ब्लॉकों में मनरेगा के कार्यों में तेजी लाने के लिए खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए । उप निदेशक एवं परियोेजना अधिकारी डीआरडीए ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि प्रधान मंत्री आवास योजना के निर्माण के लिए इस वर्ष 61 आवास बनाने का लक्ष्य रखा गया है जिसके लिए 79.33 लाख रू. का बजट प्राप्त हो चुका है तथा इन्दिरा आवास योजना के तहत 95 अनुसूचित जाति बीपीएल परिवारों को आवास देने का लक्ष्य रखा गया है जिसके लिए 98.25 लाख की राशि स्वीकृत की गई है तथा 58 स्वयं सहायता समूह बनाने का लक्ष्य है अनुराग ठाकुर ने गरीब व पात्र परिवारों के आवासों के लिए शीघ्र धनराशि महैया करवाने तथा पिछले 10 वर्षो में बने स्वयं सहायता समूहों की सूची तथा सबसे अच्छी आमदनी वाले स्वयं सहायता समूह की जानकारी उन्हें उपलब्ध करवाने का आग्रह किया ताकि उन्हें सम्मानित किया जा सके। उन्होंने  मनरेगा के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए कहा ताकि लोग अपने ेजीवन स्तर में सुधार ला सके । उन्होंने कहा कि डीजिटर इण्डिया पब्लिक इन्टरनेट एक्सेस प्रोगराम के तहत जिला की 151 पंचायतों में से 90 पंचायतों को कवर किया जा चुका है और जल्दी ही सभी पंचायतों को इस योजना के अधीन लाया जाएगा ।
       बैठक में जिला की सड़कों की भी समीक्षा की गई जिसमें अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण विभाग ने बताया कि प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत जिला में 3 सड़के 500 से अधिक आवादी वाली तथा 88 सड़के फोरैस्ट कलियरैंस न मिलने के कारण लम्बित पड़ी है जिस पर अनुराग ठाकुर ने लम्बित सड़कों के शीघ्र फोरैस्ट कलियरैंस के लिए लोनिवि तथा वन विभाग के अधिकारियों को संयुक्त रूप् से बैठक कर कोई हल निकालने को कहा ताकि जिला की सड़कों के लिए आया हुआ पैसा इन्हीं सड़कों पर खर्च किया जा सके ।
       बैठक में उप निदेशक कृषि ने बताया कि प्रधान मंत्री कृषि िंसंचाई योजना के तहत आईडब्ल्यूएमपी के तहत 758.16 लाख रू. स्वीकृत कर 529 हैक्टेयर भूमि को सिंचाई योजना के अधीन लाने का लक्ष्य रखा गया है तथा प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के तहत 1508 किसानों का बीमा कर 513 हैक्टेयर जमीन को कवर किया गया है जिसमें धान की फसल खराब होने की स्थिति में 75 हजार प्रति हैक्टेयर जाति है तथा मक्की की फसल खराब होने की स्थिति में 70 हजार रू. प्रति हैक्टेयर राशि उपलब्ध करवाई जाती है । आपीएच विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि जिला की 22 पंचायतों के किसानों की 6.700 हैक्टैयर भूमि को सिंचित करने कके लिए 90 करोड़ 87 लाख का प्रस्ताव स्वीकृति हेतु भेजा गया है जिसे पांच साल के अन्दर कवर किया जाएगा ।
       उप निदेशक उच्च व प्राथमिक शिक्षा ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि जिला के सभी स्कूलों में बच्चों के लिए शौचायल की सुविधा उपलब्ध है तथा जिला के दो प्राथमिक स्कूलों के भवनों की जर्जर हालत को देखते हुए अतिरिक्त भवनों का निर्माण किया जा चुका है और बच्चे व स्टाफ शीघ्र ही नए भवन शिफ्ट कर देगे ।अध्यक्ष महोदय ने स्कूलों में शौचालयों की साफ-सफाई की व्यवस्था करने के लिए उप निदेशक को निर्देश दिए ताकि बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ न हो सके ।
       बैठक में प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत किसानों की अधिक से अधिक भूमि को सिंचित करने के उददेश्य से ड्रिप व स्प्रिक्लर से सिंचाई करने तथा किसानों को आय में बढ़ौतरी के लिए अच्छी किस्म के बीज उपलब्ध करवाने तथा समय समय पर जागरूकता शिविर लगाने, किसान हैल्थ कार्ड व सॉयल हैल्थ कार्ड बनाने के भी के भी अनुराग ठाकुर ने निर्देश दिए ताकि किसान केैशक्रॉप फसल लगाकर अपनी आर्थिकी सुदृढ़ कर सके ।
       बैठक में खाद्य नियन्त्रक ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री उजाला योजना के तहत बीपीएल परिवारों से 1813 आवेदन प्राप्त हुए है जिसमें 1053 परिवारों की पहचान की जा चुकी है । परियोजना अधिकारी आईसीडीएस ने बताया कि विशेष न्यूट्रेशन प्रोगराम के तहत  0 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के 25599 बच्चों को इस योजना का लाभ दिया जा रहा है ।अनुराग ठाकुर ने केन्द्रीय प्रायोजित योजनाओं का लाभ आम जन मानस को पंहुचाने के लिए सभी विभागाध्यक्षों को गति लाने का आग्रह किया ताकि पात्र व्यक्ति को इसका ेलाभ मिल सके ।
       इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी डा. चान्द प्रकाश शर्मा, आईएएस (प्रोवेशन)अपूर्व देवगन, एसडीएम सदर डा. हरीश गज्जू, एसडीएम घुमारवीं आदित्य नेगी, जिला राजस्व अधिकारी कविता ठाकुर, उप निदेशक डीआरडीए सुभाष गौतम, डीएफओ वन सी.बी. टासीदार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, सरकारी व गैर सरकारी सदस्य उपस्थित थे ।

LEAVE A REPLY