9 हाथियों के दल ने 2 ग्रामीणों को कुचलकर मार डाला ।

पंकज यादव ।img-20160913-wa0004

वाड्रफनगर । बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर विकासखंड स्थित ग्राम तोरफा में रविवार की रात 9 हाथियों का दल घुस आया। इस दौरान हाथियों ने एक 20वर्षीय युवक व 55 वर्षीय ग्रामीण को कुचलकर मार डाला। युवक अपने घर के बरामदे में बंधे भैंसों के खुलने का अंदेशा होने पर निकला था, जबकि वृद्ध अपने घर से दूर स्थित बथान में गायों की देखरेख कर रहा था।सूचना पर सोमवार की सुबह वन अमला मौके पर पहुंचा। उनके द्वारा गांव में नुकसान का जायजा लेकर मृतकों के लिए मुआवजा प्रकरण तैयार किया जा रहा है।तमोर पिंगला अभ्यारण्य से निकलकर 9 हाथियों का दल रविवार की रात करीब 10 बजे वाड्रफनगर विकासखंड के बलंगी मार्ग पर स्थित ग्राम तोरफा में पहुंचगया। यहां हाथियों ने कई एकड़ में लगी मक्के की फसल तबाह कर दी। इसी बीच इसी गांव के 20 वर्षीय युवक जगतराम पिता रूपनारायण को बरामदे में बंधे अपने भैंसों के खुलने अंदेशा हुआ।भैंसों को देखने वह घर से बाहर निकला तो वहां हाथी मौजूद थे। वह वापस घर मेंभाग पाता, इससे पहले ही हाथियों ने उसेसूंड से उठाकर पटक दिया तथा कुचलकर मार डाला। आवाज सुनकर घर के लोग बाहर निकले, तब तक हाथी वहां से रवाना हो चुके थे।वहीं 55 वर्षीय हरखलाल पिता दुहन गांवसे लगे बथान में गायों की देखरेख में लगा था। वह बथान में ही एक किनारे सो रहा था। इसी दौरान इन्हीं ने उसे भी कुचलकर मार डाला। इधर हाथियों के गांवमें घुस आने की खबर गांव में आग की तरह फैल चुकी थी। सभी ग्रामीण अपने-अपने घरों से निकलकर बाहर आ गए थे।ग्रामीणों द्वारा हो-हल्ला करने पर हाथियों का दल तमोर पिंगला जंगल में वापस चला गया। हाथियों के डर से पूरे गांव ने रतजगा किया। हाथियों के गांव के आस-पास ही जंगल में डटे होने से ग्रामीणों में दहशत है।सुबह पहुंचा वन अमलाइधर घटना की सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी। सूच ना मिलने के बाद आज सुबह वन अमला गांव में पहुंचा। उनके द्वारा मृत ग्रामीणों व नुकसान हुई फसल का मुआवजा प्रकरण तैयार किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY