नवीन कुमार /नयी दिल्ली :-दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्री श्याम शर्मा स्वच्छता अभियान पर जोर दे रहे हैं और खुले में शौच से मुक्त करने की जरूरत पर भी विशेष ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में निगम के संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इन दोनों मुद्दों पर जोर देने से दिल्ली स्वच्छ और सुंदर नगर बनेगा। श्री शर्मा के निर्देश पर ‘स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत आज पश्चिमी जोन में स्वच्छता अभियान के दौरान कंचन बस्ती और केशव विहार में लोगों को साफ-सफाई बीमारियों से बचाव और खुले में शौच की प्रवृत्ति रोकने के बारे में जागरूक किया। स्वच्छ भारत मिशन के इस कार्यक्रम में दिल्ली सरकार के दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने सुबह दिल्ली कैंट रेलवे स्टेशन के आस-पास की बस्तियों में निवासियों से सम्पर्क किया। इन अधिकारियों ने बताया कि साफ-सफाई पर जोर देने और बीमारियों से बचाव करने से दिल्ली को स्वच्छ और स्वस्थ बनाने की दिशा में तेजी लायी जा सकती है। इस अवसर पर अधीक्षण अभियंता श्री अरूणेश उपाध्याय तथा सहायक आयुक्त श्री नीरज डबास भी उपस्थित थे। विभिन्न एजेंसियों के प्रतिनिधियों ने इन इलाकों में स्थानीय लोगों के साथ मिलकर कूड़े-कचरे के स्थान को साफ किया। मच्छरों और लार्वा को समाप्त करने के लिए फागिंग और दवा का छिड़काव किया। इसके अलावा लोगों से व्यक्तिगत रूप से सम्पर्क कर खुले में शौच की प्रवृत्ति बंद करने की अपील की। स्थानीय लोगों ने बताया कि इलाके की बस्तियों में हालांकि यह प्रवृत्ति नहीं है लेकिन रेल लाइनों के आस-पास कहीं-कहीं कुछ लोग इसमें लिप्त पाये जाते हैं। स्थानीय लोगों ने कहा कि वे स्वयं भी इससे मुक्ति पाने के लिए सरकारी एजेंसियों को सहयोग देंगे और निगरानी रखेंगे। अधिकारियों ने बताया कि सरकारी एजेंसियां खुले में शौच पर रोक लगाने के लिए और शौचालय बनाने के लिए अनुदान भी दे रही हैं। अधिकारियों ने कहा कि इस प्रवृत्ति पर रोक लग जाने से स्वच्छ भारत मिशन की कामयाबी निश्चित हो जाएंगी।

LEAVE A REPLY