#sdmc

नवीन कुमार /नई दिल्ली :-द.दि.न.नि. के महापौर श्री श्याम शर्मा ने उच्च स्तरीय बैठक में निगम क्षेत्र में सभी ढलावों की सफाई के काम को सुचारू बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि कल माननीय उपराज्यपाल के निर्देशों का शब्दश पूरी तरह पालन किया जाना चाहिए। श्री शर्मा ने कंशेसनर्स से कहा कि वे ढलाव से लैण्डफिल साइट तक कूड़ा-करकट ले जाने का काम गंभीरता से करें। इसके अलावा सभी टिप्परों और वाहनों को पेंट कराया जाये और सभी ढलाव की मरम्मत और सफेदी भी कराया जाये। टिप्परों, वाहनों और ढलावों पर स्वच्छ भारत का लोगो लगा होना भी जरूरी है। इस बैठक में प्रमुख अभियंता, निदेशक डेम्स, चारों जोनों के उपायुक्त, एक्जीक्यूटिव इंजीनियर और सैनेटरी सुपरवाइजर मौजूद थे। श्री शर्मा ने अधिकारियों से कहा कि वे अपने कर्मचारियों का समुचित कामकाज सुनिश्चित करें। उन्होंने कंशेसनर्स से कहा कि उनकी किसी भी लापरवाही के लिए चालान और एफआईआर किया जा सकता है। सैनेटरी सुपरवाइजर जैसे नियमित कर्मचारियों को अपने अधीनस्थ कर्मचारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने और ढलाव दिन में दो बार साफ करने के निर्देश दिए गए। महापौर ने चार जोन के लिए अलग-अलग व्हाट्सअप ग्रुप का गठन किया है जिनसे पिछले 24 घंटे के दौरान ढलाव की स्थिति पर निगरानी रखी जाएगी। श्री शर्मा ने जोनवार समितियां भी गठित की हैं जिनमें संबंधित अधिकारी और महापौर कार्यालय का एक अधिकारी शामिल होगा। श्री शर्मा ने यह भी कहा कि व्हाट्सअप ग्रुप में प्राप्त तस्वीरों का अध्ययन कर स्थिति में सुधार लाने में मददगार साबित होगा। महापौर ने संबंधित अधिकारियों को ढलाव के समुचित रख-रखाव के निर्देश दिए ताकि ढलाव तक कूड़े को लाने और उसे बिना किसी कठिनाई के लैण्डफिल साइट तक ले जाने में कोई दिक्कत न हो। श्री शर्मा खुले ढलाव की स्थिति से नाराज  थे क्योंकि इनमें से सभी को कूड़ा-करकट और गंदगी दिखायी देती है। उन्होंने विभाग से कहा कि वे खुले ढलावों को कवर करने के लिए तुरंत व्यूकटर लगायें।

द.दि.न.नि. में इंजीनियरिंग विभाग के विभिन्न स्तर के 14 इंजीनियरों का तबादला

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्री श्याम शर्मा ने आज बताया कि दक्षिणी निगम में इंजीनियरिंग विभाग के विभिन्न स्तर के 14 इंजीनियरों का तबादला किया गया है। यह तबादला एक जोन से दूसरे जोन में किया गया है। इंजीनियरों के तबादले में 4 अधिशासी अभियंता, 7 सहायक अभियंता तथा 3 कनिष्ठ अभियंता शामिल हैं। इसे देखते हुए निगम में इंजीनियरिंग विभाग के जे.ई., ए.ई. और एक्जीक्यूटिव इंजीनियरों का विभाग के भीतर अन्य स्थानों पर तबादला कर दिया गया है।महापौर ने कहा कि तबादलों से अलग-अलग स्थान और जहाँ संभव हो अलग-अलग विभाग में काम करने से निगम के सम्पूर्ण कामकाज के बारे में सुचारू ज्ञान मिलता है। श्री शर्मा ने कहा कि तबादले एक नियमित प्रक्रिया है।

LEAVE A REPLY