नवीन कुमार /नई दिल्ली :- लाला हरदयाल जी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य पर आज हरदयाल हैरिटेज म्युनिसिपल पब्लिक लाइब्रेरी, गांधी मैदान, चांदनी चौक में एक विशेष हैरिटेज वाॅक (वाॅकेथोन) का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री डाॅ महेन्द्र नाथ पांडे, पूर्वी दिल्ली से सांसद श्री महेश गिरि, महापौर उत्तरी दिल्ली डाॅ संजीव नैय्यर, भाजपा अध्यक्ष दिल्ली प्रदेश श्री सतीश उपाध्याय, विधायक चांदनी चैक क्षेत्र सुश्री अल्का लांबा, क्षेत्रीय निगम पार्षद सुश्री सुरेखा गुप्ता, उत्तरी दिल्ली नगर निगम की पार्षद व पूर्व उपमहापौर डाॅ नीलम गोयल व बड़ी संख्या में पार्षदगण उपस्थित थे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता हरदयाल म्यूनिसिपल लायबे्ररी की सचिव डाॅ शोभा विजेन्द्र ने की।
इस अवसर पर डाॅ महेन्द्र नाथ पांडे ने कहा कि लाला हरदयाल महान स्वतंत्रता सेनानी तो थे ही साथ ही वे विलक्षण स्मरण क्षमता वाले व बेहतरीन वक्ता भी थे। उनका व्यक्तित्व हमेशा समाज के युवाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत है। उन्होंने कहा कि इस तरह की लायब्रेरी का शहर के हृदय में स्थित होना और रोजाना पुस्तक प्रेमियों का बड़ी संख्या में यहां आना इस बात का गवाह है कि आज के युवाओं में भी इंटरनेट के साथ-साथ किताबों के शौकीन कम नहीं हुए है। उन्होंने लाइब्रेरी के लिए शीशे की अलमारियो के अलावा अन्य सुविधाओं की मांग को सहर्ष स्वीकार किया।
इस अवसर पर श्री सतीश उपाध्याय ने कहा कि किसी भी देश की पहचान उसकी संस्कृति से होती है और यह 150 साल पुरानी लायब्रेरी हमारे संस्कृति का प्रतीक है। उन्होंने लायब्रेरी की सचिव डाॅ शोभा विजेन्द्र को बधाई दी की वे इस लायबे्रेरी को सहेजने का कार्य बखूबी निभा रही है।
इस अवसर पर डाॅ संजीव नैय्यर ने बताया कि इस लायब्रेरी को उत्तरी दिल्ली नगर निगम की तरफ से पूर्णरूपेण ग्रांट प्रदान किया जाता है। उन्होंने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम हैरिटेज और अपनी संस्कृति के संरक्षण के लिए सवैद तत्पर रहता है।
डाॅ शोभा विजेन्द्र ने इस अवसर पर बताया कि दिल्ली की इस ऐतिहासिक धरोहर के संरक्षण, संवर्धन, उचित रख-रखाव, विकास तथा लोकोपयोगी बनाने के लिए जनता को जागृत करने के उद्देश्य से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्होंने केंद्र सरकार तथा दिल्ली सरकार से मांग की कि वे मिलकर राजधानी की इस विरासत को अश्रुण बनाने में अपनी भूमिका जिम्मेदारी से अदा करें और इस पुस्तकालय का विस्तार करके पुस्तक प्रेमियों को लाभांवित करें। इस अवसर पर बच्चों द्वारा नृत्य नाटिका का भी आयोजन किया गया।

LEAVE A REPLY