नवीन कुमार /नई दिल्ली :- दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्री श्याम शर्मा ने आज सिविक सेंटर में जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र आॅनलाइन जारी करने की सुविधा का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर अतिरिक्त आयुक्त श्रीमती मीता सिंह चिकित्सा सहायता एवं जनस्वास्थ्य समिति की अध्यक्षा श्रीमती मीनू पंवार सहित बड़ी संख्या में अधिकारीगण एवं नागरिक भी उपस्थित थे।दक्षिणी निगम के महापौर श्री श्याम शर्मा ने इस अवसर पर कहा कि जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र की यह सुविधा प्रारम्भ होने से अब नागरिकों को निगम के दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि अब घर बैठे ही नागरिक इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे।श्री शर्मा ने बताया कि यह सुविधा दक्षिणी निगम की एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के डिजिटलाइजेशन कार्यक्रम के तहत यह सुविधा शुरू की गयी है। महापौर ने बताया कि जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए निगम की वेबसाइट पर लाॅगआॅन करना करना होगा एवं तीन साधारण चरणों जिसमें सबसे पहले प्रमाणपत्र का नम्बर डालना होगा। इसके पश्चात् रिकाॅर्ड देखकर फीस जमा कर सर्टिफिकेट को डाउनलोड किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि इस सुविधा के पश्चात् भ्रष्टाचार पर भी लगाम लगेगी।अतिरिक्त आयुक्त श्रीमती मीता सिंह ने कहा कि इस सुविधा के पश्चात् नागरिकों को घर बैठे ही जन्म एवं मृत्यु प्रमाणपत्र प्राप्त हो जाएंगे। पुराने रिकाॅर्ड को खोजने के लिए पुराना रजिस्ट्रशन नं जन्म तिथि एवं माता/पिता का नाम डालना होगा। यदि रजिस्ट्रेशन नं. उपलब्ध न हो तो जन्म तिथि, बच्चे का नाम, माता/पिता का नाम एवं बच्चे का जेंडर आदि से पुराना प्रमाणपत्र प्राप्त किया जा सकता है। श्रीमती मीता सिंह ने कहा कि जन्म प्रमाणपत्र हेतु 21 रु. एवं मृत्यु प्रमाणपत्र हेतु 11 रु. की राशि शुल्क के रूप में अदा करना होगा। प्रमाणपत्र में उल्लिखित क्यू आर कोड युक्त प्रमाणपत्र सही माना जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि प्रमाणपत्र को पीडीएफ के प्रारूप में सेव (सुरक्षित) करके रखा जाएगा तो उसे आप बहुउद्देशीय रूप में प्रयोग कर सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर निःशुल्क अतिरिक्त प्रतियां प्राप्त कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY