शाढ़ाबाई में जुटें देश भर के रूरल शल्य चिकित्सक- शाढ़ाबाई में जुटें देश भर के रूरल शल्य चिकित्सक-
एसोसिएशन आॅफ रूरल सर्जन्स आॅफ इंडिया का 24वां वार्षिक सम्मेलन 3 से 6 नबंबर तक-
सुनामी ब्यूरो कुल्लू(राजीव)-
कुल्लू के चिकित्सा क्षेत्र के इतिहास में पहली बार भारत के 2,000 शल्य चिकित्सकों के राष्ट्रीय संगठन ‘एसोसियेशन आॅफ रूरल सर्जनज आॅफ इंडिया’ का 24वां राष्ट्रीय सम्मेलन 3 नबंबर शुरू हो गया है जो 6 नवम्बर 2016 तक चलेगा। जोकि देश के बड़े-बड़े शहरों से निकलकर कुल्लू जिला के शाड़ाबाई स्थित हिमाचल प्रदेश विद्युत परिषद कम्पलैक्स व एस.आर. अस्पताल कलैहली में आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन के सांइटिफिक सैशन का शुभारम्भ 3 नवम्बर 2016 को करने के उपरान्त सी.एम.ई. (निरन्तर चिकित्सकीय शिक्षा) वर्कशाॅप (कार्यशाला) एवं इस राष्ट्रीय संगठन की कार्यकारिणी की सभा आयोजित की गई जिसमें इस चार दिवसीय सम्मेलन की रूपरेखा एवं निष्कर्ष पर विस्तृत विचार विमर्श के बाद अन्त में भारत सरकार स्वास्थ्य मंत्रालय को ’’कुल्लू डेक्लेरेशन’’ नाम से प्रस्तावपेश करके देश के अति दुर्गम व विकट परिस्थितियों में कार्यरत रूरल शल्य चिकित्सा से जुड़े डाॅक्टरों द्वारा घर द्वार के निकट शल्य  सेवाएं मुहैया कराने के लिए उचित पाॅलिसी बनाने का अनुरोध किया जाएगा जिसमें 108 की तर्ज पर हेलीकाप्टर एम्बुलेंस सेवा प्रारम्भ करना प्रमुख बिन्दु होंगे। गौरतलब है कि इस सम्मेलन के दूसरे दिन भी फ्री पेपर सेशन में जहां लगभग दो दर्जन नामी गिरामी शल्य चिकित्सकों द्वारा अपने-अपने कार्य क्षेत्र के शोध पत्र प्रस्तुत किए गए वहीं पोस्टर प्रस्तुति के द्वारा भी प्रतिभागियों को उचित मंच प्रदान किया गया। इसके अतिरिक्त एंटिया सिंपोजियम और अमेरिका के ‘लैन्सेट कमीशन फाॅर ग्लोबल सर्जरी’ की प्रस्तुति विशेष रूप से आयोजित की गई। सम्मेलन के तीसरे दिन भी लगभग दो दर्जन फ्री पेपर, विडियो प्रस्तुति और सिम्पोजियम के उपरान्त अतिथि फेकल्टी लैक्चर के अलावा ’बालूशंकरण ओरेशन’ के अन्तर्गत विश्व प्रसिद्ध प्लास्टिक सर्जन डाॅ0 चनजीव सिंह की प्रस्तुति के पश्चात् शनिवार 5 नवंबर को इस राष्ट्रीय सम्मेलन का औपचारिक रूप से उदघाटन किया गया है।

LEAVE A REPLY