गोपालगंज. बिहार गोपालगंज के मांझा थाना क्षेत्र के देवापुर अकिल टोला में सोमवार की देर रात एक भांजे ने अपनी मामी की गोली मार कर हत्या कर दी।
जाने क्या है पूरा मामला

मामा विदेश में रहता था तो भांजा अपनी मामी का खासा ख्याल रखता था। वह अक्सर आता-जाता और हंसी-मजाक किया करता था। मामी भी अपने भांजे से हंसी-मजाक करती थी और उसका ख्याल रखा करती थी। उसके लिए अचछा खाना बनाकर खिलाती थी, जिससे उसका भी मन बहल जाता था।

हंसी-मजाक के दौरान ही भांजा मामी को जहां-तहां छूता रहता था और चुहल किया करता था, लेकिन मामी उसकी मंशा समझ नहीं पाती थी। वह अक्सर घर में उसे अकेली पाकर मजाक-मजाक में ही बांहों में भर लेता था लेकिन मामी उसे बस मजाक समझती थी। उसका विरोध न करने का मतलब भांजे को लगता था कि मामी भी उससे प्यार करती है।

यह घटना है बिहार के गोपालगंज जिले के मांझा थाना के देवापुर अकिल गांव की। मामी आसमां के पड़ोसियों का कहना है कि भांजा मामा के देश से बाहर रहने का फायदा उठाना चाहता था। उसे लगने लगा था कि मामी उसे प्यार करती है।

भांजा इम्तेयाज मामी के साथ बातचीत के रिश्ते से आगे जाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाना चाहता था।सोमवार रात करीब 10:30 बजे इम्तेयाज मामी के घर आया और मौका देखते ही आसमां के साथ संबंध बनाने की कोशिश करने लगा। भांजे द्वारा अचानक हुए इस हमले से मामी घबरा गई। वह विरोध करने लगी।

इसके बाद मामा के अन्य परिजनों संग घर छोड़ फरार हो गया। घटना के दौरान घर में मौजूद उसके दो बेटों व एक बेटी का रो-रो कर बुरा हाल है। शमशेर आलम की पत्नी आसमां खातून पूरे परिवार व तीन बच्चों के साथ घर पर रहती थी। शमशेर आलम खाड़ी देश में नौकरी करता है। सोमवार की रात करीब 10.30 बजे आसमां की ननद का लड़का प्रतापपुर गांव निवासी इम्तेयाज घर पहुंचा। सीधे आसमां के कमरे में गया। कट्टा निकाल उस पर फायर झोंक दिया।1_1479857481

LEAVE A REPLY