(शैलेश कुमार पाण्डेय )

गोपालगंज। स्वास्थ मंत्री के गृह जिले के सदर अस्पताल में मरीजो के बेड पर नही है कंबल . images-1कड़ाके की इस ठंड में सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों की समस्या काफी विकट हो गई है। इन मरीजों को अस्पताल की तरफ से कंबल नहीं दिया जा रहा है। इमरजेंसी वार्ड में तो मरीजों को चादर तक नसीब नहीं हो रही है। ऐसे में मरीजों की रातें घर से मंगाए गए कंबल ओढ़ कर कट रही है। जिससे उन मरीजों की परेशानी काफी बढ़ गई है। जिनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे मरीज फटा पुराना कंबल व चादर ओढ़ कर कड़ाके की ठंड भरी रातें काट रहे हैं।सरकार ने सरकारी अस्पताल में इलाज कराने आने वाले मरीजों को कई सुविधाएं उपलब्ध कराई है। मरीजों के बेड पर दिन के अनुसार अलग अलग चादर बिछाने के साथ ही उन्हें दवा से लेकर भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था सरकार ने की है। लेकिन इन सुविधाओं के बीच भी सदर अस्पताल में भर्ती मरीजों को सांसत झेलनी पड़ रही है। अस्पताल में भर्ती मरीजों को कंबल तक नसीब नहीं हो पा रहा है। ऐसा तब है जबकि ठंड बढ़ने के साथ सिविल सर्जन डॉक्टर मदेश्वर प्रसाद शर्मा ने सदर अस्पताल के महिला वार्ड, इरमजेंसी वार्ड सहित अन्य वार्ड में भर्ती होने वाले मरीजों को कंबल दिए जाने के आदेश दिया था। लेकिन सीएस के आदेश अमल नहीं किया जा रहा है। गुरुवार को सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती थावे प्रखंड के हरिदया गांव निवासी रसीदन खातून, कुचायकोट प्रखंड के सासामुसा निवासी राजू कुमार के परिजनों ने बताया तबीयत खराब होने के बाद ये लोग इमरजेंसी वार्ड में बुधवार की शाम से भर्ती हैं। लेकिन अस्पताल की तरफ से न तो बेड पर चादर बिछाया गया और ना ही कंबल दिया गया। घर से मंगाए गए चादर तथा कंबल के सहारे इनकी रात कटी। वहीं इस सबंध में सिविल सर्जन डॉक्टर मदेश्वर प्रसाद शर्मा से संपर्क किया गया तो उनका मोबाइल कवरेज क्षेत्र से बाहर बताता रहा।

LEAVE A REPLY