बलौदाबाजार।  खलिहान मे धान की रखवाली करने सो रहे किसान को हाथियों ने पटक पटक कर मार डाला।घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग का अमला एवं पुलिसबल घटनास्थल पहुंचकर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया।वन विभाग ने मृतक के परिजनों को तत्कालीक सहायता के रूप मे 25 हजार रुपये दिए।

              प्राप्त जानकारी के अनुसार विकास खण्ड के ग्राम बरबसपुर निवासी कमल नारायण मिश्रा /नरसिंह प्रसाद मिश्रा (52) 25 – 26 दिसम्बर के दरमियानी रात को अपने खलिहान में रोज की तरह मिंज कर रखे हुए धान की रखवाली करने सोया हुआ था। रात करीब 1 बजे दो जंगली हाथी आए और उसके खलिहान के दीवार को तोड़ते हुए अंदर घुस आए और पहले रखवाली करने सो रहे कमल नारायण को पटक पटक कर मार दिया जिससे घटना स्थल पर हीउसकी मौत हो गई ।कमल नारायण
के चिल्लाने की आवाज सुनकर खलिहान के पास ही रहने शत्रुहन पाईक, नीरेंद्र ध्रुव, घनाराम ध्रुव उसके खलिहान की तरफ आए और देखा कि उसके खलि -हान मे दो भारी भरकम हाथी हैं और बोरों मे रखे धान को खा रहे थे।तीनों लोगों ने आवाज लगाई तो हाथी नहीं भागे तब पास के ही खलिहान खलिहान से पैरा लाकर आग जलाई आग को देखकर दोनों हाथीसुखचन्द के खलिहान होते हुए जंगल की तरफ भाग गए।खलिहान मे तीनों ने जाकर देखे तो कमल नारायण नजर नहींआया ,तब नीरेंद्र और शत्रुहन उसके घर जाकर परिजनों को खबर दी और पूछा कि कमल नारायण घर आया कि नहीं तब परिजनों ने बताया कि वे खलिहान से नहीं आए हैं।फिर परिजनों एवं अन्य ग्रामीणों के साथ घटनास्थल पहुंचे और उसकी खोजबीन शुरू की गई।खोजबीन मे उसके पुत्र उमाशंकर ने बताया कि धान के बोरों के बीच मे उसका पिता जी मृत अवस्था मे पड़ा हुआ है ,फिर घटना की जानकारी तुरंत वन विभाग के डिप्टीरेंजर पी के सिन्हा को दी।जानकारी मिलते ही डिप्टीरेंजर अन्य अमलों के साथ घटनास्थल पहुंचे और घटना की जानकारी रेंजर को दी।सूचना मिलते ही रेंजर भी घटनास्थल पहुंचे।घटना की जानकारी भी रात को ही पुलिस थाने को दी।सूचना मिलते ही प्रधान आरक्षक राजेन्द्र तिवारी ,आरक्षक चमन मिथलेश,और जयपल दुबे के साथ पहुंचे और शव का पंचनामा कर शव परीक्षण के बाद परिजनों को सौंप दिया।मामले मे पुलिस ने मर्ग क्र 142 /16 कायम कर लिया है । घटना की सूचना मिलते ही वन मण्डलअधिकारी विश्वेष झा एवं एस डी ओ सलमा फार्रुकी भी घटनास्थल पहुंचे और मौका मुआयना किया और तत्काल मुआवजा प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए। परिक्षेत्र अधिकारी एस एस नाविक ने परिजनों को तात्कालिक सहायता के रूप मे 25 हजार रुपये प्रदान किए तथा शीघ्र मुआवजा प्रकरण बनाकर शासन को प्रेषित करने की बात कही।

LEAVE A REPLY