(शैलेश कुमार पाण्डेय )
पटना।dalai-lama5_1482927387 ने बिहार में शराबबंदी की सराहना करते हुए कहा कि नशा किसी समस्या का समाधान नहीं है। आज के दौर में लोगों के मन में काफी गुस्सा और तनाव है। इसे दूर करने के लिए ड्रग्स और शराब का इस्तेमाल करना गलत है। ट्रेनिंग ऑफ माइंड से मानसिक तनाव और गुस्सा दूर किया जा सकता है।
 बुद्ध स्मृति पार्क में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि बौद्ध भिक्षु के रूप में बिहार आना मेरे लिए गर्व की बात है। भगवान बुद्ध ने अहिंसा, महाकरूणा का संदेश दिया था। दो हजार साल बाद भी यह संदेश जीवंत है। न सिर्फ प्रार्थना बल्कि ट्रेनिंग ऑफ माइंड भी आवश्यक है। नीतीश कुमार बहुत वर्षों से हमारे अच्छे और नजदीकी मित्र हैं। अलग- अलग देशों में रहने वाले बौद्ध धर्मावलंबियों के बीच आपसी प्रेम का रिश्ता रहना चाहिए। भारत एक गुरु के समान है। हमारा सारा ज्ञान भारत से आता है। हम उसके शिष्य है। भारत के लोंगों से मेरी अपील है कि वे अपने इतिहास और दर्शन से सीखें।