नवीन कुमार /नई दिल्ली :-द.दि.न.नि ने आज हंसराज गुप्ता सभागार सिविक सेंटर में मधुमेह के विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। यह कार्यशाला शिक्षा विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग ने सनोफी के साथ मिलकर आयोजित की। इस अवसर पर मैक्स अस्पताल के डॉ सुजीत झा, शिक्षा निदेशक श्रीमती मीता सिंह, अतिरिक्त निदेशक (स्वास्थ्य)डॉ पी.के. दास सहित बड़ी संख्या में चारों जोन के प्रधानाचार्य एवं अध्यापक भी उपस्थित थे।
मैक्स अस्पताल के डॉ सुजीत झा ने इस अवसर पर मधुमेह टाइप-1, टाइप-2 के बारे में जानकारी दी। उन्होंने मधुमेह के लक्षणों और उससे बचाव के उपायों पर विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने अध्यापकों को बताया कि बच्चों में मधुमेह होने की स्थिति में क्या कदम उठाने चाहिए और उन्हे खाने पीने के लिए क्या देना चाहिए। डॉ सुजीत झा ने कई अध्यापकों द्वारा पूछे गए कई प्रश्नों के जबाब देकर कई भ्रांतियों को दूर किया।
इस अवसर पर शिक्षा निदेशक श्रीमती मीता सिंह ने कहा कि आज के समय में नागरिक विभिन्न बीमारियों का सामना कर रहे हैं जिसका मुख्या कारण जीवन शैली में परिवर्तन है। उन्होंने कहा कि इन बीमारियों के बारे में सही जानकारी प्राप्त कर इन्हें रोका जा सकता है। श्रीमती मीता सिंह ने कहा कि अपनी जीवन शैली में कुछ परिवर्तन और खान पान तथा आदतों में सुधार से मधुमेह के प्रभाव को कम किया जा सकता है। उन्होंने सभी प्रधानाचार्यां एवं अध्यापकों को अपने विद्यालयों में छात्रों को मधुमेह बीमारी के बारे में जानकारी देने के लिए कहा और सभी को इस माह में अपने विद्यालय के छात्रों की जांच कर एक परफोर्मा भरने के आदेश दिये। इस कार्यशाला में मधुमेह के विषय में जानकारी देने के लिए पुस्तिका भी सभी को वितरित की गई।

LEAVE A REPLY