ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना पर खर्चे 330 करोड़: सुधीर शर्मा
ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना पर खर्चे 330 करोड़: सुधीर शर्मा

मंदल बना प्रदेश का पहला फ्री वाई-फाई सुविधायुक्त गांव, शहरी विकास मंत्री ने किया शुभारंभ
धर्मशाला, 20 मार्च: शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा ने आज धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत मंदल गांव में बीएसएनएल की निःशुल्क वाई-फाई सुविधा का शुभारंभ किया। उल्लेखनीय है कि मंदल प्रदेश का पहला गांव है जहां इस प्रकार की निशुल्क वाई-फाई सुविधा उपलब्ध करवाई गई है।
सुधीर शर्मा ने कहा कि यह डिजिटल हिमाचल बनाने की दिशा में प्रभावी पग है। इससे गावों में सूचना क्रांति के माध्यम से विकास के नए प्रतिमान स्थापित करने और विकास प्रक्रिया में सभी की भागीदारी तय करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इससे पारदर्शी प्रशासन को बल मिलेगा और ई-सेवाओं से लोगों को सुशासन, सुरक्षा और योजनाओं का सुगमता से लाभ मिलना तय होगा। उन्होंने कहा कि शिमला, धर्मशाला और पालमपुर इत्यादि में पहले ही वाई-फाई सुविधा उपलब्ध करवा दी गई है तथा इसी तर्ज पर प्रदेश के गांवों में भी इन्टरनेट सुविधा से जोड़ा जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने पर बल दिया जा रहा है ताकि शहरों और गावों में विकास की कड़ी को मजबूत किया जा सके।
48 लाख की पेयजल योजना का शुभारंभ
इससे पूर्व, सुधीर शर्मा ने धर्मशाला के झियोल में 48 लाख की लागत से निर्मित नलकूप पेयजल योजना घियाणा-परोल-झियोल का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश के लोगांे को उनके घर पर स्वच्छ पेयजल सुविधा प्रदान करने के लिए गत एक वर्ष में ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना पर 330 करोड़ रुपए वयय किए गए हैं। प्रत्येक व्यक्ति को हर दिन 70 लीटर स्वच्छ पानी की सुविधा प्रदान करने के लिए सभी संभव कदम उठाए जा रहे हैं।  उन्होंने कहा कि इस पेयजल योजना से घियाणा खुर्द, परोल और झियोल के 6 हजार से अधिक लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होगा।
सुधीर शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के कुशल नेतृत्व में प्रदेश के निर्धनतम व्यक्ति के विकास के लिए प्रतिबद्ध है तथा सरकार ने जनसाधारण के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं एवं कार्यक्रम आरंभ किए हैं। शहरी विकास मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार का लक्ष्य प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाना है। उन्होंने कहा कि हिमाचल जैसे पहाड़ी प्रदेश को शहरी विकास के आदर्श के रूप में स्थापित करने के लिए कार्य किया जा रहा है।
सामुदायिक केन्द्रों के शिलान्यास और उद्घाटन
सुधीर शर्मा ने इसके उपरांत मंदल के वार्ड नम्बर दो में 2.50 लाख रुपये से बनने वाले सामुदायिक केन्द्र का शिलान्यास किया जबकि भड़वाल में 6 लाख रुपये की लागत से निर्मित पूर्व सैनिक सेवा संगठन भवन का उद्घाटन किया।
गमरेहड़ सड़क का भूमि पूजन तथा झियोल मार्ग का उद्घाटन
इसके बाद शहरी विकास मंत्री ने 52 लाख रुपये की लागत से बन रहे झियोल-गमरेहड़ संपर्क मार्ग का भूमि पूजन किया तथा राजकीय उच्च पाठशाला झियोल के लिए 1.5 लाख की लागत से बनने वाली संपर्क सड़क का उद्घाटन भी किया।
रू-ब-रू केन्द्र झियोल व मंदल का किया दौरा
इस दौरान शहरी विकास मंत्री हैल्पिंग हैण्डस संस्था द्वारा रू-ब-रू कार्यक्रम के तहत महिला कल्याण के लिए चलाए जा रहे जागृति अभियान के अंर्तगत झियोल और मंदल में स्थापित सिलाई-कढ़ाई प्रशिक्षण केंद्रों में भी गए और वहां कार्य कर रही महिलाओं से भेंट कर महिलाओं द्वारा तैयार विभिन्न उत्पादों का अवलोकन किया।
घोषणायें
शहरी विकास मंत्री ने इस अवसर पर महिला मंडल मंदल को 3 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने भड़वाल में मुख्य सड़क से भड़वाल तक की सड़क को पक्का करने तथा भड़वाल से निचली भड़वाल तक जीप योग्य मार्ग बनवाने की घोषणा की।
सुनीं जनसमस्यायें
शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री ने झियोल और मंदल में लोगों की समस्यायंे भी सुनीं तथा अधिकांश के निपटारे हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये।
इस अवसर पर झियोल की नगर निगम के उप महापौर देवेन्द्र जग्गी, प्रधान वीना देवी, समिति अध्यक्ष रवि कुमार, नगर निगम पार्षद शुभम सूद, ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष राकेश धीमान, हैल्पिंग हैंडस संस्था की महासचिव शकुन मनकोटिया, एसडीएम श्रवण मांटा, डीएसपी सुरेन्द्र शर्मा, हिमाचल प्रदेश विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता अजय गौतम, लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता विजय चौधरी, अधिशासी अभियंता दीपक गर्ग, भू-सरंक्षण अधिकारी राहुल कटोच, एसडीओ लोक निर्माण सुशील डढ़वाल, डीएफओ परवीन ठाकुर, बीडीओ धर्मेश, बीएसएनएल उप महा प्रबन्धक पंजू राम, एसडीओ अजय शर्मा, राजभाषा अधिकारी राजेश शर्मा, सेवानिवृत कैप्टन पुरूषोतम लाल, बलदेव, ओम बहादुर गुरूंग, अरूण कुमार, मंदल की प्रधान ऊषा देवी और उप प्रधान राकेश कुमार सहित क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY