युवराज यादव

     विधानसभा अध्यक्ष द्वारा दो दिवसीय युवा डेंटल कान्फ्रेंस का शुभारंभ

बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने आज राजनांदगांव जिले के सोमनी में डेन्सिया संस्था द्वारा आयोजित दो दिवसीय युवा डेंटल कान्फ्रेंस का शुभारंभ मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलन कर किया। युवा डेंटल कान्फे्रंस का आयोजन देश में तीसरी बार और छत्तीसगढ़ में पहलीबार किया गया है। कान्फ्रेंस में1042 युवा दंत चिकित्सक हिस्सा ले रहे है। इसके पूर्व यह कान्फ्रेंस भोपाल और पूना में आयोजित हो चुकी है। श्री अग्रवाल ने इस अवसर पर युवा डेंटल कान्फ्रेंस से संबंधित सी.डी. का विमोचन भी किया। काॅन्फ्रेंस में अल्बेनिया देश की प्रतिनिधि डाॅ. सिल्वाना विशेष रूप से उपस्थित थी।

श्री अग्रवाल ने युवा डेंटल कान्फे्रंस में उपस्थित दंत चिकित्सकों का संबोधित करते हुए कहा कि डेन्सिया के माध्यम से दंत चिकित्सा, दंत चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान से संबद्ध विशेषज्ञ दंत चिकित्सों द्वारा इस क्षेत्र में हो रहे नवीन अनुसंधान और संसाधनों के विषय में जानकारी मिलेगी। जिससे दंत चिकित्सकों को एक नया आयाम मिलेगा। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि दंत चिकित्सा में पहले और अब के दौर में आधारभूत परिवर्तन हुआ है। पहले दंत चिकित्सा का कार्यक्षेत्र सीमित था आज इसकी व्यापकता से सभी भलीभांति परिचित है। कान्फ्रेंस में दंत चिकित्सा से जुड़े प्रत्येक पहलुओं पर वैचारिक विमर्श होगा वह सबके लिए लाभप्रद होगा। श्री अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ उभरता हुआ प्रदेश है। राज्य निर्माण के बाद चिकित्सा के क्षेत्र भी विकास हुआ है। राज्य निर्माण के समय छत्तीसगढ़ में एक मात्र शासकीय मेडिकल काॅलेज रायपुर में था, अब मेडिकल काॅलेज की संख्या बढ़ कर 6 हो गई है। पहले प्रतिवर्ष 100 डाॅक्टर बनते थे, अब 1100 डाॅक्टर हर साल बन रहें है। इसके अतिरिक्त राज्य में 5-6 निजि दंत महाविद्यालय भी है। उन्होंने कहा कि मेरी अभिलाषा है कि भविष्य में दंत चिकित्सा से संबंधित किसी भी विषय में यह संगठन नीति निर्धारक संगठन के रूप में जाना जाए। दंत चिकित्सा के क्षेत्र में भी छत्तीसगढ़ देश का नेतृत्व करें। श्री अग्रवाल ने आयोजकों को बधाई देते हुए कहा कि युवा दंत चिकित्सकों के लिए यह काॅन्फ्रेंस लाभप्रद हों।

कान्फे्रस को भारतीय दंत चिकित्सा कौशिल की सदस्या और डेन्सिया संस्था की संस्थापक डाॅ. असमिता सिंह, संस्थापक सदस्य डाॅ. अनिल घोम, आयोजन समीति के सी.ई.ओ. डाॅ. प्रशांत त्रिपाठी, डाॅ. जी.सी.जाॅन ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर शासकीय दंत चिकित्सा महाविद्यालय के डाॅ. गुप्ता और अन्य वरिष्ठ दंत चिकित्सक भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY