हिमाचली सेब को जर्मन के वुक्साल उत्पाद दे रहे संजीवनी-
स्वाल कंपनी ने मार्केट में उतारा डिवोना उत्पाद, कुल्लू में किया लॉन्च-
सुनामी ब्यूरो कुल्लू/मंडी (राजीव)-
अब हिमाचली सेब विदेशी सेबों के आगे फीके नहीं पड़ेंगे बल्कि विदेशी सेबों को हिमाचली सेब पूरी तरह से टक्कर दे रहा है। जर्मनी का वुक्साल उत्पाद हिमाचली सेबों की सिर्फ रक्षा ही नहीं कर रहा है बल्कि उन्हें पोषित भी कर रहा है। स्वॉल कॉरपोरेशन ने जर्मनी की वुक्साल फर्टीलाईजर को जहां गत वर्ष भारत के हिमाचल में उतारा है वहीं, गुरूवार को डिवोना नामक उत्पाद को भी लॉन्च किया है। इस उत्पाद को लॉन्च करने के लिए लालचंद प्रार्थी कलाकेंद्र में भव्य आयोजन किया गया और किसान मेले का भी आयोजन करके सैंकड़ों बागवानों व किसानों को हिमाचली सेब की उत्पादकता व गुणवता बढ़ाने के टिप्स दिए। इस अवसर पर कपंनी के राष्ट्रीय रीजनल डायरेक्टर समीर टंडन, बिजनेस हैड विजय कुमार भट्ट, फर्टीलाईजर हैड योगेश चंद्रा, जोनल हैड सत्येंद्र सिंह, रीजनल मैनेजर शिव कुमार शर्मा, टैरीटरी मैनेजर अशोक कुमार शर्मा व अंबोज सूद भी विशेष रूप से उपस्थित रहे।  उन्होंने बताया वुक्साल ने जितने भी उत्पाद कुल्लू में उतारे हैं उसके अच्छे परिणाम निकले हैं। इसी कड़ी में गुरूवार को कंपनी द्वारा डिवोना उत्पाद भी मार्केट में उतारा है। डिवोना सेब के पौधों की रक्षा करता है। आज तक जो उत्पाद उतारे गए हैं वे पिंक वर्ड, फ्लावरिंग व वॉलनट के साइज के सेब पर प्रयोग होते थे लेकिन इस उत्पाद की स्प्रे सेब तुड़ान के बाद व सेब लगने से पहले किया जाता ह ताकि पौधे में बिमारियां न लगे और वह तंदूरूस्त रहे। उन्होंने बताया कि इस वर्ष कंपनी अपने उत्पाद एवं विपणन सेवाओं को और सुदृढ़ बना रही है जिससे खेतों में उत्पादकता बढ़ेगी और इसके परिणामस्वरूप किसानों की अजीविका समृद्ध होगी। उन्होंने बताया कि कंपनी का उद्देश्य फसल स्वस्थ होगी तो किसान ताकतवर होगा और किसानों को ताकतवर बनाने के लिए ही कंपनी काम कर रही है। गौर रहे कि इससे पहले कंपनी सेब के लिए खाद भी मार्केट में उतार चुकी है। इस फर्टीलाईजर के स्प्रे से सेब के पौधों को ही नहीं बल्कि पत्ते, तनों व फलों को भी संजीवनी मिलती है। सेब के अलावा यह स्प्रे अन्य फलों व सब्जियों में  भी उनकी रक्षा व पोषित करने के लिए रामबाण साबित होती है। स्वॉल कॉरपोरेशन ने दावा किया है कि अब हिमाचली सेब में सिर्फ लाली ही नहीं बल्कि स्वाद, रंग रूप की रक्षा के अलावा कोल्ड स्टोर में भी अधिक दिनों तक टिकेगा। जर्मन की वुक्साल उत्पाद ने हिमाचल प्रदेश के सेब को संजीवनी देने के लिए अपने उत्पादों की लॉचिंग की है। कंपनी का दावा है कि सेब के अलावा टमाटर, लीची, प्लम, नाशपाती, आडू सहित तमाम सब्जियों व फलों में भी इन उत्पादों की स्प्रे की जा सकती है और सभी फलों व सब्जियों में वुक्साल कंपनी की स्प्रे से गुणवता आएगी। इस कंपनी की स्प्रे से न तो फल खराब होंगे और न ही पौधे। यही नहीं मार्केट में इस तरह के फलों को काफी अच्छे दाम भी मिलेंगे। कंपनी ने दावा किया है कि विश्वभर के 75 देशों के बागवान बुकसाल कंपनी के उत्पादों को प्रयोग में लाकर सेब उत्पाद में गुणवत्ता ला रहे हैं। वहीं, पौधों में बिमारियों से लडने की ताकत भी बढ़ती है।

LEAVE A REPLY