ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री ने किया रैहची-खणी सड़क का उदघाटन-
पंचायतों को सीधे मिलेंगे 1800 करोड़-अनिल शर्मा-
सुनामी ब्यूरो कुल्लू/मंडी (राजीव)-
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज और पशुपालन मंत्री अनिल शर्मा ने बुधवार को आनी विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत पलेही में करीब अस्सी लाख रुपये की लागत से निर्मित रैहची-खणी सड़क का उदघाटन किया और एचआरटीसी की बस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके बाद खणी में जनसभा को संबोधित करते हुए अनिल शर्मा ने कहा कि इस सड़क के उदघाटन के साथ ही क्षेत्र की जनता की लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी हो गई है। इस मार्ग पर स्थायी बस सेवाएं आरंभ करने का मामला परिवहन मंत्री के समक्ष उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के चहुंमुखी विकास के लिए सरकार चैदहवें वित्त आयोग की 1800 करोड़ रुपये की धनराशि को सीधे पंचायतों को जारी कर रही है। इस पैसे के सदुपयोग और ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों को गति प्रदान करने के लिए सभी लोग ग्राम सभाओं में अवश्य भाग लें। अनिल शर्मा ने बताया कि सरकार ने जिला परिषदों और पंचायत समितियों के माध्यम से विकास कार्यों के लिए 32 करोड़ रूपये के बजट का प्रावधान किया है। पशुपालन विभाग की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए अनिल शर्मा ने कहा कि दुधारू पशुओं की नस्ल सुधार के लिए आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है। देसी नस्ल पर भी अनुसंधान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मिल्क फेडरेशन को घाटे से उबारने में कामयाब हुई है और अब इसका मुनाफा चार करोड़ से अधिक हो गया है। इसका सीधा लाभ प्रदेश के दुग्ध उत्पादकों को होगा। फेडरेशन पहली बार दुग्ध सहकारी सभाओं को बोनस दे रही है। अनिल शर्मा ने कहा कि दुग्ध उत्पादन में आनी विधानसभा क्षेत्र ने कई मुकाम हासिल किए हैं। क्षेत्र में सालाना लगभग 110 लाख लीटर दूध पैदा किया जा रहा है जिसका कुल मूल्य 25 करोड़ से अधिक है । क्षेत्र में 164 दुग्ध उत्पादन सहकारी सभाएं हैं जिनकी कुल सदस्यता दस हजार से अधिक है।  प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की चर्चा करते हुए अनिल शर्मा ने कहा कि सरकार ने बेरोजगारी भत्ते का प्रावधान करके युवाओं को बहुत बड़ी राहत दी हैं । अनुबंध सेवाकाल की अवधि तीन वर्ष किए जाने से हजारों कर्मचारी लाभान्वित होंगे। इस मौके पर अनिल शर्मा ने क्षेत्र की दुग्ध उत्पादक सभाओं को मिल्क फेडरेशन की ओर से बोनस के चैक भी बांटे। उन्होंने पलेही के पंचायतघर और खणी में सामुदायिक भवन के लिए धनराशि का प्रावधान करने का आश्वासन भी दिया। इससे पहले मिल्क फेडरेशन निदेशक मंडल के सदस्य जयचंद चैहान ने ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज और पशुपालन मंत्री का स्वागत किया तथा दुग्ध उत्पादन में क्षेत्र की उपलब्धियों की जानकारी दी। पूर्व प्रधान देवराज, मनमोहन ने क्षेत्र की विभिन्न मांगें मंत्री के समक्ष रखीं।

LEAVE A REPLY