राज्य में प्रशासनिक बदलाव – वर्क फीडबैक के साथ चुनावी गणित का मिश्रण ।

बिलासपुर  । लोकसुराज के फीडबैक पर राज्य में प्रशासनिक सर्जरी का पहला पार्ट आज समय से पहले जारी हो गया।राज्य में 17 जिलो के कलेक्टर प्रभावित हुये।आप समझ सकते है इतनी बड़ी संख्या में  जिला कलेक्टरों के बदले जाने के क्या मायने हो सकते है।आगामी चुनाव को देखते हुए भी एक्सरसाइज की गयी है।कुल मिलाकर सूची में 3 दर्जन आईएएस इधर उधर कर दिए गए।सबसे फायदे में रहे मुकेश बंसल और नीरज बंसोड़ जो सीधे सीएम साहेब के पास पहुच गए तो लकी पोस्टिंग रही पी दयानद की बिलासपुर में।वैसे तो दयानद का पहले ही बिलासपुर आना ड्यू था लेकिन लोकसुराज के  अंतिम ओवरों में वे लगभग हिटविकेट होने की कगार पर थे,लेकिन बिलासपुर का नेचर ऐसा ही है तो दयानंद डबल फायदे में  रहे ,समझो कि वे प्रेक्टिस करके बिलासपुर में नया स्टार्ट करेंगे।जे पी अपने बैच के सीनियर थे कलेक्टर बनना लाजिमी था,पर सरकार ने उन्हें सुकमा सरकाकर यह क्लियर कर दिया है कि उनके खाते में पहले कुछ नहीं है जीरो से स्टार्ट करना होगा।अमित कटारिया जल्द ही दिल्ली जाने वाले है इसलिए उन्हें रायपुर में रिप्लेसमेंट पोस्ट दिया गया।बिलासपुर और रायगढ़ में अलग अलग रह रहे अमबलगंन दम्पति को सरकार ने एक साथ रायपुर भेज दिया है।मुंगेली कलेक्टर को सरगुजा मिला,कहा जा सकता है किरण कौशल को उनकी मेहनत का फल दिया गया साथ मुंगेली की सीईओ को भी बिलासपुर में एडजस्ट कर घरवापसी कर दीगयी।कोरबा, बलौदा बाजार में नए ऊर्जावान लोगो को कलेक्टर बनाया गया है तो रायगढ़ में पुनः महिला कलेक्टर की पोस्टिंग से बेटी बचाओ मिशन को जारी रखा जाएगा।सूची में बिलासपुर से कमिश्नर श्रीमती बारीक़ अब ग्रामोद्योग सचिव होगी तो सरगुजा से महावर बिलासपुर के कमिशनर बनाये गए है।आने वाले दिनों  में कुछ और बड़े फेरबदल स्टेट सर्विसेस के अफसरों में किये जायेंगे जिसमे लोकसुराज और मिशन 2018 को देखते हुए सूची बनाई जा रही

LEAVE A REPLY