बिलासपुर । पिछले कुछ दिनों से भ्र्ष्ट अफसर के खिलाफ मोर्चा खोल रखे छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस बिलासपुर संभागीय प्रभारी अंकित गौरहा ने आखिरकार अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। पार्टी सुप्रीमो अजीत जोगी ने अंकित गौरहा का इस्तीफा मंजूर कर लिया है। पार्टी सूत्रों की माने तो अंकित पर इस्तीफा के लिए कुछ वरिष्ठ नेता लागर दबाव बना रहे थे | हालाँकि अंकित ने इस्तीफा की वजह पारिवार

िक कारणों का होना बताया है।

 

पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस्तीफा की वजह तखतपुर और बिल्हा ब्लाक में बनाए गए पीएमजेएसवाय योजना की सड़कें हैं। कुछ दिनों पहले अंकित ने मीडिया के सामने इस बात का खुलासा किया था कि सड़कों के निर्माण में भारी भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने बता था कि प्रधानमंत्री सड़क योजना के अधीक्षक अभियंता वरूण राजपूत और अभियंता शुभनारायण पाठक ने ठेकेदारों के साथ मिलकर करीब सात करोड़ रूपए का भ्र्ष्टाचार किया है। अग्रवाल इंफ्राबिल्ड और बिटुमैक कंस्ट्रक्शन को सड़क निर्माण और नवीनीकरण का काम दिया गया था। सड़क बनने के बाद तीन महीने में ही पूरी तरह से उधड़ गई । इसे लेकर अंकित ने भष्ट अफसर और ठेकेदारों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था | जिसका विरोध पार्टी के ही मुंगेली के एक बड़े नेता ने करना शुरू कर दिया । अंकित का आंदोलन जारी रहने पर मुंगेली के उस नेता ने पार्टी सुप्रीमो को पार्टी छोड़ने तक की धमकी दे डाली । इसके बाद अंकित के ऊपर लगातार इस्तीफा के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया गया । जिसके बाद अंकित गौरहा ने बिलासपुर संभागीय प्रमुख पद से इस्तीफा दे दिया है। अंकित ने इस्तीफा में पारिवारिक कारण बताया है ।

प्रशांत त्रिपाठी बनाए गए कार्यवाहक प्रभारी

युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के अध्यक्ष विनोद तिवारी ने प्रशांत त्रिपाठी को आगामी आदेश तक युवा जनता कांग्रेस  छत्तीसगढ़ जे का कार्यवाहक बिलासपुर संभाग प्रभारी नियुक्त किया है |

LEAVE A REPLY