हिमाचल प्रदेश : मनाली में लगी धारा 144, एसडीएम मनाली ने किए धारा 144  लगाने के आदेश

सुनामी ब्यूरो, राजीव (कुल्लू /मंडी)

टैक्सी यूनियन मनाली ने कल देर शाम 8 घंटें तक किया था चक्का जाम सैलानियों सहित स्थानीय लोगों को झेलनी पड़ी थी भारी परेशानी शाम 6 बजे से सुबह होने तक रहा था यातायात बाधित

कॉग्रेंस ने लगाया टैक्सी यूनियम की आढ़ में मनाली के विधायक पर राजनिति करने का आरोप ; कहा विधायक ने भड़काया भीड़ को ।

एसडीएम मनाली एचआर बैरवा ने कहा कि शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने को प्रशासन गंभीर है। उन्होंने कहा कि गत रात्रि मनाली में पैदा हुए गंभीर हालात को देखते हुए प्रशासन ने भविष्य में इस तरह की घटना को रोकने के लिए धारा 144 सीआरपीसी लगा दी है। उन्होंने कहा कि टैक्सी आपरेटर शांति व्यवस्था बनाए रखें ताकि देश व दुनिया से मनाली आ रहे पर्यटक यहां की वादियों में घूमने का आनंद उठा सके। प्रशासन ने हालांकि टैक्सी यूनियन की सभी जायज मांगों को मान लिया गया है लेकिन फिर भी यूनियन शहर में अफरा-तफरी का माहौल पैदा करती है तो उनके विरूद्ध आईपीसी और सीआरपीसी की धारा के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।एसडीएम ने कहा कि एनजीटी के आदेशों का सख्ती से पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि टैक्सी आपरेटरों की अधिकतर मांगों को मान लिया गया है। एसडीएम ने कहा कि आपरेटरों की मांगे पहले ही मान ली गई थी लेकिन गलतफहमी के चलते यह हालात पैदा हुए हैं लेकिन अब स्थिती सामान्य है।

कांग्रेस नेताओं ने स्थानीय विधायक गोविंद ठाकुर पर राजनीतिकरण का आरोप लगाया है।

सोमवार को टैक्सी यूनियन द्वारा किये गये चक्का जाम पर आज मनाली कांग्रेस नेताओं की नींद भी खुली।

आनन फानन में पत्रकार वार्ता बुलाकर चक्का जाम का सारा ठिकरा स्थानीय विधायक पर फोड़ दिया।पत्रकार वार्ता में पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष एंव वरिष्ट काग्रेंसी नेता हरी चंद शर्मा ने कहा कि उन्होंने एसडीएम से मिलकर हालात का जायजा लिया और आपसी मतभेद दूर कर हालात को शीघ्र सामान्य करने की बात कही। उन्होंने कहा कि मनाली के हजारों लोग पर्यटन से जुड़े हैं।उनकी सुख सुविधा का ख्याल हम सब को रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि चक्का जाम करना समस्या का समाधान नहीं है बल्कि आपस में बैठकर बातचीत से ही समस्या का समाधान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधायक को चक्का जाम का समर्थन करने के बजाए प्रशासन के साथ मिलकर मामले को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए था लेकिन विधायक यहां भी राजनीति करने से नहीं चूके।

LEAVE A REPLY