योग को जीवन में आवश्यक रूप से शामिल करें-श्री अग्रवाल

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में सामूहिक योगाभ्यास      img-20170621-wa0147

बिलासपुर, 21  जून 2017/योग को जीवन में आवश्यक रूप से शामिल करें। जिससे स्वस्थ रोगरहित और खुशहाल जीवन के साथ देश को आगे बढ़ा सकें। नगरीय प्रशासन, उद्योग एवं वाणिज्यिक कर मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर बहतराई स्टेडियम में सामूहिक योगाभ्यास कार्यक्रम में यह उद्गार व्यक्त किया।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जिले में लगभग 05 लाख लोगों ने सामूहिक योगाभ्यास किया। बहतराई स्टेडियम में आयोजित मुख्य समारोह में हजारों पुरूष-महिला, स्कूली बच्चे योगाभ्यास में शामिल हुए। इस अवसर पर श्री अग्रवाल ने अपने संबोधन में कहा कि हमारी प्राचीन संस्कृति दुनिया का मार्गदर्शन करती है। भौतिकवाद में दुनिया हमेशा बहुत आगे रही है, लेकिन अध्यात्मिकता में हम दुनिया से बहुत आगे है। शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ कैसे रहें, इसकी खोज दुनिया में हो रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र संघ में इसका समाधान करने की कोशिश की और आग्रह किया कि योग में इसका समाधान है। इसके परिणाम स्वरूप पूरी दुनिया में 21 जून को योग दिवस मनाने का फैसला किया गया। यह भारत का विश्व गुरू बनने की शुरूआत है। हमारी इस संस्कृति को दुनिया मान रही है। इसके लिए जरूरी है कि हम भी हर रोज योग करें और निरोग रहें।

महापौर श्री किशोर राय ने कहा कि विश्व के लगभग 182 देश आज योग दिवस मना रहे हैं। इसका उद्देश्य संपूर्ण मानव जाति को स्वस्थ और निरोग रखना है। स्वस्थ रहने की भावना लेकर हम सभी यहां योग करने जुटे हैं। ’’योग करेंगे स्वस्थ रहेंगे’’ इस संकल्प के साथ योग को एक महाभियान के रूप में आगे बढ़ाना है। कलेक्टर श्री पी.दयानंद ने कहा कि ग्राम पंचायत से लेकर जिला स्तर तक सामूहिक योगाभ्यास का कार्यक्रम रखा गया है। जिसमें लगभग 5 लाख लोगों को योगाभ्यास करेंगे। ज्यादा से ज्यादा लोग योग करें और निरोग रहें यह हमारा संकल्प है।

इस अवसर पर योग प्रशिक्षक श्री तिवारी, ब्रम्हकुमारी स्वाती, उषा चन्द्राकर आदि को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संभागायुक्त श्री टी.सी. महावर, आई.जी. पुरूषोत्तम गौतम, पुलिस अधीक्षक श्री मयंक श्रीवास्तव, अतिरिक्त कलेक्टर श्री के.डी. कुंजाम, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती फरिहा आलम सिद्दकी, जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक, छात्र-छात्राएं एवं नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY