धर्मशाला में ‘होम स्टे योजना’ को देेंगे बढ़ावा: सुधीर शर्माdsc_0101
पर्यटन को लेगेंगे पंख, बढ़ेगी ग्रामीणों की आय
ग्राम पंचायत भवन और वन कुटीर का किया लोकार्पण

धर्मशाला, 26 जून: शहरी विकास, आवास एवं नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के सभी गावों मेें लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाने और उनकी आय बढ़ाने के लिए ‘होम स्टे योजना’ को बढ़ावा दिया जाएगा। इस योजना के लिए सभी पंचायतों में पंजीकरण सेवा शीघ्र आरंभ की जाएगी। पर्यटकों के गावों में ठहरने से ईको पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा तथा ग्रामीणों की आय बढ़ेगी।
सुधीर शर्मा ने ये बात आज धर्मशाला के समीप ग्राम पंचायत रक्कड़ के लगभग साढ़े 6 लाख रुपए से नवनिर्मित भवन के लोकार्पण के उपरांत जनसभा को संबोधित करते हुए कही । उन्होंने कहा कि धर्मशाला में दुनिया भर के पर्यटक आते हैं, जो यहां की संस्कृति, खान-पान और रहन-सहन जानना चाहते हैं। होम स्टे सुविधा से वे स्थानीय संस्कृति और विशिष्ट व्यंजनों का आनंद ले सकेंगे। इस अनूठे अनुभव से क्षेत्र में पर्यटन को नए पंख लगेंगे।

रूबरू कार्यक्रम को देेंगे सहकारी स्वरूप, ऑनलाईन मिलेंगे उत्पाद

सुधीर शर्मा ने कहा कि धर्मशाला में चलाए गए रूबरू कार्यक्रम को सहकारी स्वरूप दिया जाएगा। इससे महिलाओं की आर्थिक संपन्नता तो बढ़ेगी ही, ये कदम उनके आत्मसम्मान को बढ़ाने वाला होगा। महिलाओं के तैयार उत्पादों की मार्केटिंग और बिक्री के लिए सुनियोजित नीति के तहत कार्य किया जाएगा। रूबरू ब्रांड के लिए बाजार तैयार करने को ऑनलाईन शापिंग की प्रमुख साईटों पर ये उत्पाद उपलब्ध करवाए जाएगें। इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला क्षेत्र में महिलाओं की आय अर्जन में वृद्धि करने के लिए रूबरू कार्यक्रम के माध्यम से उन्हें सिलाई, कढ़ाई आदि परम्परागत क्षेत्रों में अद्यतन कौशल और नई जानकारी प्रदान करने पर बल दिया जा रहा है। इस उपाय से स्वरोजगार के अवसरों को बढ़ाने में सहायता मिली है।
महिलाओं को प्रशिक्षण प्रमाणपत्र और सिलाई मशीनें, महिला मंडलों को 10-10 हजार

इस अवसर पर सुधीर शर्मा ने रूबरू कार्यक्रम के तहत 3-3 माह के सिलाई, कढ़ाई के कोर्स पूरा कर चुकीं महिलाओं को प्रमाणपत्र वितरित किए। उन्होंने कोर्स पूरा करने में उत्कृष्ट रही महिलाओं को सिलाई मशीनें भी प्रदान कीं। उन्हांेने रक्कड़ महिला मंडल और महादेव महिला मंडल को उनकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए अपनी ओर से 10-10 हजार रुपए प्रदान किए।
13 लाख से बनेगा रक्कड़ में विकास भवन 
इस दौरान शहरी विकास मंत्री ने कहा कि रक्कड़ में विकास भवन के निर्माण पर 13 लाख रुपए व्यय किए जाएंगे। इसके लिए 8 लाख रुपए उन्होंनेे पहले दिए हैं तथा 5 लाख रुपए और उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि रक्कड़ ग्राम पंचायत की ऊपरी मंजिल के  निर्माण के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध करवाई जाएगी। क्षेत्र में दादियां की लाड़ सड़क सहित अन्य संपर्क सड़कों के लिए भी समुचित धनराशि देने का आश्वासन दिया।
उन्होंने कहा कि धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र में प्रदेश के किसी अन्य क्षेत्र के मुकाबले सबसे अधिक सीमेंटिड सड़कंे बनी हैं। अधिक बारिश के कारण क्षेत्र में तारकोल वाली सड़कें अधिक समय तक नहीं टिक पातीं, इसके मद्देनजर क्षेत्र में सीमेंटिड सड़कें बनाने पर जोर दिया गया है। इनकी लागत अधिक है, लेकिन ये ज्यादा टिकाऊ हैं।
उन्होंनेे कहा कि धर्मशाला में भविष्योन्मुखी योजनाएं लागू करने पर बल दिया जा रहा है। वे बिना भेदभाव के सभी के विकास के लिए कार्य कर रहे हैं। उनका लक्ष्य है कि धर्मशाला को भारत के पहाड़ी शहरों में सबसे सुंदर और सुनियोजित शहर के तौर पर स्थापित किया जाए।
इस दौरान उन्होंनेे लोगांे की मांगों और समसयाओं को भी जाना तथा अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही समाधान कर दिया, जबकि शेष समस्याओं के निर्देशे दिए।
इस अवसर पर नगर निगम के उपमहापौर देवेंद्र जग्गी, बीडीसी अध्यक्ष रविंद्र कुमार, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष राकेश धीमान, शहरी कांग्रेस महासचिव व रूबरू कार्यक्रम की संचालिका शकुन मनकोटिया, जिला परिषद सदस्य विनीत धीमान, ग्राम पंचायत रक्कड़ की प्रधान कस्तूरबा शर्मा, उपप्रधान राजीव शर्मा, नगर निगम पार्षद शुभम सूद एवं बबीता शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, विभिन्न विभागों के अधिकारी, रूबरू कार्यक्रम के स्वयंसेवी, प्रशिक्षणार्थी और बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे।
वन कुटीर एवं सामुदायिक भवन का किया लोकार्पण
इसके उपरांत शहरी विकास मंत्री ने रक्कड़ में मध्य हिमालय जलागम विकास परियोजना के तहत 31 लाख रुपए की लागत से निर्मित सामुदायिक भवन एवं वन कुटीर का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि ये भवन वन विभाग की विभिन्न वित पोषण करने वाली एजेंसियों की स्थानीय समुदायों के साथ बैठक के लिए उपयोगी स्थल के तौर पर काम आएगा। उन्होंने कहा कि मध्य हिमालय जलागम विकास जैसी परियोजनाएं जनसहभागिता से विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में प्रभावी रही हैं।
इस अवसर पर मध्य हिमालय जलागम विकास परियोजना के क्षेत्रीय निदेशक डा. पवनेश शर्मा ने शहरी विकास मंत्री का स्वागत किया। इस मौके डीएफओ प्रवीण ठाकुर, डी.डब्ल्यू.डी.ओ सुभाष पराशर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।    

LEAVE A REPLY