हिमाचल में बीपीएल आबादी को घटा कर 2 प्रतिशत तक लाने का लक्ष्य 20170706_115912
धर्मशाला, 06 जुलाई: हिमाचल सरकार ने राज्य में गरीबी रेखा से नीचे की आबादी को वर्ष 2022 तक 8.1 प्रतिशत से घटा कर 2 प्रतिशत तक लाने का लक्ष्य रखा है। सरकार इस अवधि में प्रदेश में शिशु मृत्यु दर को प्रति हजार 35 से घटा कर 20 तक लाने और शत-प्रतिशत टीकाकरण सुनिश्चित करने के लिए कार्य कर रही है। यह जानकारी सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कला जत्थों ने आज कांगड़ा जिले के विभिन्न विकास खण्डों में आयोजित कार्यक्रमों के दौरान लोगों को दी। 
     योजना विभाग द्वारा चलाए गए विशेष अभियान के तहत आयोजित इन कार्यक्रमों का उद्देश्य लोगों को विकास की प्रक्रिया में सहभागिता के लिए जागरूक करना और इसमें सभी हितधारकों को भागीदारी के लिए प्रेरित करना है। 
     यह जानकारी देते हुए सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार राज्य में सतत् विकास तय करने के लिए प्रभावी कदम उठा रही है तथा आर्थिक विकास के साथ-साथ पर्यावरण को भी सुरक्षित करने पर बल दिया जा रहा है। सरकार वर्तमान और भविष्य की पीढ़ियों के लिए प्राकृतिक संसाधनों को सुरक्षित रखते हुए प्राकृतिक संसाधनों का न्यूनतम क्षरण को बढ़ावा दे रही है।  
उन्होंने बताया कि सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कलाकारों ने आज नगरोटा बगवां खण्ड के मस्सल व सरोत्री, नूरपुर विकास खण्ड के सदवां व औंद, विकास खण्ड परागपुर के परागपुर व शांतला, विकास खण्ड धर्मशाला के खनियारा व जदरांगल और विकास खण्ड लंबा गांव के लंबागांव व जयसिंहपुर में कार्यक्रम आयोजित कर गीत-संगीत व लघु नाटिकाओं के माध्यम से लोगों को जागरूक किया।
इन कार्यक्रमों के दौरान सदवां पंचायत की प्रधान शालिनी, उप-प्रधान राजेश शर्मा, जयसिंहपुर पंचायत के प्रधान राजपाल धीमान, उप-प्रधान विनोद जग्गी, वार्ड सदस्य विकास सिंह, रमेश चंद, मस्सल पंचायत के प्रधान मनोज कुमार जगोत्रा, सरोत्री पंचायत के प्रधान उमा कांत, औंद पंचायत की प्रधान वीना देवी, उप-प्रधान सदीफ मोहम्मद सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY