बिहार सहित देश के अन्य राज्यों में हर जगह आपको आवारा कुत्ते घूमते दिख जायेंगे। राजधानी पटना में आवारा कुत्तों को नियंत्रित करने के लिए बेउर में डॉग हॉस्पिटल बनाये जाने की योजना है।

दुनिया में एक एेसा देश भी है जहां कुत्तों को नागरिकता प्रदान की जाती है। हालांकि अभी तक इस देश को मान्यता नहीं मिली है।

जून 2018 तक अस्पताल का निर्माण कार्य पूरा होने की उम्मीद है। अस्पताल में कुत्तों की संख्या पर नियंत्रण के लिए उनका बंध्याकरण किया जाएगा। वहीं दुनिया में एक ऐसा देश भी है, जहां कुत्तों को नागरिकता प्रदान की जाती है। इस देश का नाम है मोलोसिया। इस देश में मात्र 33 लोग रहते हैं, जिनमें कुत्ते भी शामिल हैं। कहा जाता है कि 1977 में केविन बॉघ और उनके एक दोस्त के दिमाग में अलग देश बनाने का विचार आया था। दोनों ने मिलकर मोलोसिया की स्थापना की। तब से केविन इस छोटे से देश के राष्ट्रपति हैं। उन्होंने खुद को तानाशाह घोषित कर रखा है। उनकी बीवी देश की पहली महिला का दर्जा रखती हैं। इस छोटे से देश में मात्र 33 नागरिक रहते हैं, जिनमें 4 कुत्ते भी शामिल हैं। ज्यादातर नागरिक केविन के रिश्तेदार हैं, जो इस देश के बॉर्डर के नजदीक रहते हैं। हालांकि, इस देश को अभी तक दुनिया की किसी भी सरकार से मान्यता प्राप्त नहीं हुई है। इस देश की खासियत यह है कि यहां राष्ट्रपति को आप सड़कों पर खुलेआम घूमते देख सकते हैं। US के नेवाडा में स्थित इस देश के अपने अलग कानून, ट्रेडिशन, यहां तक की अलग करेंसी भी है। इस छोटे से देश में स्टोर, लाइब्रेरी, श्मशान घाट के अलावा कई सुविधाएं मौजूद हैं। कई लोग इस अनोखे देश का टूर लेने आते रहते हैं। अंदर आने के लिए टूरिस्ट को अपने पासपोर्ट पर स्टैम्प लगवाना पड़ता है।

LEAVE A REPLY