बिलासपुर । जिला पुलिस कप्तान ने जिला पुलिस महकमा को जनता से सीधे संवाद करने का निर्देश दिया है। इस बात की जानकारी सभी को है। पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने बिलासपुर में पदभार ग्रहण करते ही पुलिस आपके द्वार अभियान चलाया। अभियान के पीछे पुलिस कप्तान का एक मात्र उद्देश्य अपराधियों पर नकेल कसने के साथ समाज के लोगों से पुलिस की नकारात्मक छवि को दूर करना भी था। फिलहाल पुलिस कप्तान इसमें काफी हद तक सफल भी नजर आ रहे हैं

पुलिस की छवि को सकारात्मक दिशा देते हुए पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने फिर एक अभियान चलाया है। पढ़ने लिखने वाले गरीब परिवार के होनहार बच्चों को हरसंभव मदद करने का बीड़ा उठाया है। पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने सक्षम पुलिस अधिकारियों और विभाग के लोगों से गरीब बच्चों को मदद के लिए हाथ बढ़ाने का भी निर्देश दिया है।

 

इसी कड़ी में सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में एसपी मयंक श्रीवास्तव की तरफ से आईपीएस शलभ सिन्हा के निर्देश पर सिरगिट्टी थाने में होनहार छात्राओं के बीच कापी किताब और अन्य पढ़ाई की सामाग्रियों के लिए यथासम्भव मदद दिया गया। पुलिस कप्तान ने भूमि तिवारी, रूचि तिवारी , श्रुति तिवारी को पुस्तक कॉपी खरीदने के लिए अपनी तरफ से सहयोग राशि दी है।

 

मालूम हो कि कुमारी भूमि तिवारी को भारत सरकार की तरफ से बाढ़ नियंत्रण प्रोजेक्ट की प्रस्तुति देने जापान भेजा गया था। प्रस्तुति से प्रभावित होकर अन्तर्राष्ट्रीय वैज्ञानिको ने भूमि तिवारी को अमेरिका में आयोजित होने वाले सकुरा एक्सचेंज कार्यक्रम में आमंत्रित किया है। सबको मालूम है कि भूमि तिवारी के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

 

पुलिस कप्तान के सराहनीय पहले से प्रभावित होकर बिलासपुर के सभी जागरूक और सामाजिक संगठनों ने बधाई दी है। सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने बताया कि खाकी बर्दी के नीचे भी दिल धडकता है। पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने साबित किया है।

LEAVE A REPLY