”’रायगढ़ इन्डियन गैस सर्विस की तनासाह संचालक की मनमानी से हितग्राही परेसान ”’

सब्सिडी लेने को हितग्राही काट रहे बैक और एजेसी के चक्कर 

इस मामले में खाद विभाग घुसखोरी विभाग साबित होते दिख रहा है

रायगढ़ गैस सर्विस ” गैस वितरण को लेकर इंडियन गैस डीलर की मनमानी हितग्राहियों के साथ हो रहा ,मतभेद गरीबो को धुतकारा जाता है गरीबो को मिलने वाला गैस अमीरों के एक फोन घुमाते ही गैस की डिलवरी उनके चौखट तक कर दी जाती है जबकी उनका कोई होम डिलवरी भी नहीं होता है \ और रात से लाईन में लगे लोगो को गैस समाप्त हो जाने की खबर दी जाती है राजनीति में जुड़े उनके खास नेतावो का धोस सिर्फ कमजोर और बेसाहारा लोगो को दिखाई जाती है आँखों में देखते देखते आंख में धुल झोककर आंख फोड़ दी जाती है जबकी सामने ट्रक में सलेडर भरा हुवा रहता है वहा से भीड़ हटाकर ब्लेक का व्यापार धडल्ले से चालू किया जाता है वो कुछ भी करे सत्ता तो उनके हाथ में है हाथ काटे या बांटे या फिर चांटे ये तो उनके ऊपर निर्भर है क्योकि उनके आकावो की फ़ौज ऊपर से निचे तक भू मंडल में उनके कवच बनकर इर्ध गिर्ध घूम रहे है ऐसा रहा तो भाजपा पर लोगो का विश्वास खत्म हो सकता है आपको तो मालूम है मालिक तो (सरकार ) हमेसा ठीक ही रहता है छबी तो उनके भक्त खराब करते है ऐसा ना हो जाये की एक गैस डीलर के कारण भाजपा की छबी धूमिल ना पड़ जाये कोई बादशाह चढाई कर राज सिहासन छीन ना ले जाये समय रहते अपनी बार्डर पर तैनात सैनिको को चौकस करने की जरुरत है और गैस डीलर जैसा संचालक नामक सैनिक को बर्खास्त करवा कर अपने अपने राजसिहासन को बचा लेना चाहिए / ///

पत्रकार 

””लक्की ओमप्रकाश गहलोत

LEAVE A REPLY