सुकमा। जिले के गोलपल्ली थाना क्षेत्र में रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने नक्सलियों का कैम्प किया ध्वस्त /

रायपुर /सुकमा। जिले के गोलपल्ली थाना क्षेत्र में सर्चिंग पर निकले जिला रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने रसातोंग के जंगल में नक्सलियों का कैम्प ध्वस्त किया है। रविवार शाम यहां नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में दो वर्दीधारी हार्डकोर नक्सली मारे गए हैं। मारे गए दोनों नक्सली का शव जवानों ने कब्जे में लिया है। वहीं हथियार और नक्सल समान भी बरामद हुए हैं।
सुकमा एएसपी जितेंद्र शुक्ला ने कहा कि, नक्सल अभियान में सर्चिंग पर निकले जिला रिजर्व पुलिस बल के जवानों के लिए यह बड़ी कामयाबी है। जब एक टीम रविवार शाम को वापस आ रही थी तो ग्राम रसातोंग के जंगलों में घात लगाए नक्सलियों ने पुलिस बल पर हमला किया था। दोनों ओर से करीब एक घंटे तक गोलीबारी हुई। घटना स्थल पर दो नक्सलियों के शव बरामद हुए हैं। वहीं दो 12 बोर की बंदूक , नक्सली साहित्य, 10 पिट्ठू बैग व एक वायरलेस बरामद हुआ है। हालांकि दोनों नक्सलियों की पहचान अभी नहीं हुई है। सिर्फ इतना पता चल पाया है कि, एक एरिया कमेटी का कमांडर और दूसरा एलओएस सदस्य था। जवान दोनों का शव लेकर मुख्यालय के लिए निकल चुके हैं। उन्होंने बताया कि, रविवार सुबह इनपुट मिले थे कि, रसातोंग के जंगल में नक्सलियों ने कैंप बना रखा है। सूचना पर निकली टीम जब गोल्लपल्ली थाना क्षेत्र के रसातोंग के जंगल में पहुंची तो सूचना सही निकली। 20 नक्सली बकायदा कैम्प लगाए हुए थे। जवानों के आने की भनक लगते ही नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। बड़ी मुस्तैदी से जवानों ने नक्सलियों से लोहा लिया। नक्सलियों की गोलीबारी का डीआरजी की टीम ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने कहा कि, घटना स्थल मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर तेलंगाना-छत्तीसगढ़ बार्डर के करीब है, इसलिए टीम के लौटने पर घटना से संबंधित और भी जानकारी स्पष्ट होगी। वहीं जिला रिजर्व पुलिस बल के जवान को किसी भी तरह से नुकसान नहीं हुआ है।

LEAVE A REPLY