युवराज यादव, छत्तीसगढ़

अपने बलात्कारी मित्र को बचाने झोला छाप डॉक्टर ने पीड़िता को लगाया गलत  इंजेक्शन—

झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्यवाही नहीं होने का खामियाजा भुगत रहे लोगscreenshot_2017-09-23-15-43-47

-बलौदाबाज़ार। कसडोल क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टरों के गलत ईलाज किए जाने से मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है , ऐसे ही एक मामला में शहीद वीरनारायण सिंह के जन्मभूमि सोनाखान ( महकम) में डॉक्टर द्वारा गलत इंजेक्शन लगाए जाने से युवती    की मौत हो गई। परिजनों ने डॉक्टर पर अपने बलात्कारी मित्र को बचाने गलत इंजेक्शन लगाए जाने का आरोप लगाया है।पुलिस ने परिजनों की शिकायत पर मर्ग कायम कर पीड़िता का शव परीक्षण कराने के बाद शव परिजनों को सौंपकर मामले की विवेचना प्रारंभ कर दिया है।

सर्वोच्च न्यायालय एवं छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के निर्देश पर शासन प्रशासन ने झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जा रही थी , जिससे ऐसे गैर डिग्रीधारी डॉक्टरों में हड़कम्प मच गया था और अनेकों डॉक्टर भूमिगत हो गए थे।शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पर्याप्त स्वास्थ्य कर्मचारी नियुक्त नहीं किए जाने का भरपूर फायदा उठाते हुए गैर डिग्री धारी झोलाछाप डॉक्टरों ने ग्रामीण क्षेत्रों में अपना पूरा साम्राज्य स्थापित कर लिया है और अनुभव हीन एवं गैरडिग्रीधारी होते हुए भी ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले भोले भाले ग्रामीणों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करते हुए उनका जमकर आर्थिक शोषण भी करने कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।इसी तरह का एक मामला प्रकाश में आया है जिसमें डॉक्टर द्वारा गलत इंजेक्शन लगाए जाने से एक बुखार पीड़ित युवती की मौत हो गई।पुलिस एवं परिजनों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम महकम निवासी रामेश्वर सागर की पुत्री की तबीयत खराब होने से वे गाँव में ही चिकित्सा कार्य करने वाले रामेश्वर कश्यप के पास ले गए जहाँ पर उसने बुखार पीड़िता को ऐसा क्या इंजेक्शन लगाया कि उसकी हालत सुधरने के बजाए और बिगड़ने लगी और उसके मुंह से झाग निकलने लगी।युवती को परिजनों ने तत्काल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनाखान में भर्ती कराया जहाँ से प्राथमिक उपचार के बाद उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कसडोल रिफर कर दिया।युवती को परिजन कसडोल अस्पताल ला रहे थे तभी ग्राम नवगांव के वन विभाग बेरियर के पास उसने दम तोड़ दिया।सामान्य बुखार में इंजेक्शन लगाने के बाद अचानक तबियत बिगड़ने से परिजनों को संदेह हुआ कि हो न हो इसके पीछे डॉक्टर की कोई गहरी चाल हो सकती है।परिजनों ने बताया कि पिछले 3 सितम्बर को मृतिका द्वारा पुलिस चौकी सोनाखान में अमित कुमार केंवट पिता पुनीत राम केंवट (22) के खिलाफ बहला फुसलाकर शादी का प्रलोभन देकर शारिरिक शोषण करने का रिपोर्ट दर्ज कराया गया है जिसमें आरोपी अभी न्यायिक अभिरक्षा में जेल में है।मृतिका के परिजनों ने आरोप लगाया है कि उक्त डॉक्टर का आरोपी के साथ गहरी दोस्ती थी ,और उसके घर उसका अक्सर आना जाना लगा हुआ था इसी की वजह से उसने पीड़िता को गलत इंजेक्शन लगाया होगा।पुलिस ने इस मामले में मर्ग क्र 113/ 2017 धारा 174 जा फौ कायम कर विवेचना प्रारंभ कर दिया है।इस सम्बंध में कसडोल थाना प्रभारी प्रणाली बैद्य ने बताया कि परिजनों के रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर  शव का पोस्टमार्टम कराया गया है , पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY