संवेदनशील प्रशासन बनाएं और जनसमस्याओं को प्राथमिकता से निराकृत करें-श्री चन्द्राकर

 

प्रभारी मंत्री मस्तूरी विधानसभा में आम जनता की समस्याओं से रूबरू हुए

 

बिलासपुर, 27 नवंबर 2017/जिले के प्रभारी मंत्री श्री अजय चन्द्राकर आज मस्तूरी विधानसभा में आम जनता की समस्याओं से रूबरू हुए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि संवेदनशील प्रशासन बनाएं और जनसमस्याओं को प्राथमिकता से निराकृत करें।

 

प्रभारी मंत्री ने आज विधानसभा अंतर्गत ग्राम सीपत के समावेशी भवन में आयोजित शिविर में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। साथ ही उपस्थित आम जनता से उनकी समस्याओं से संबंधित आवेदन लिये और अधिकारियों को उनका निराकरण करने का निर्देश दिया। उन्होंने आमजनता से अनुरोध किया कि निजी समस्याओं को प्राथमिकता दें और उनका निराकरण कराएं। श्ाििवर में लगभग 80 आवेदन प्राप्त हुए। समीक्षा बैठक में बिजली से संबंधित समस्याएं लेकर ज्यादा लोग पहुंचे थे। प्रभारी मंत्री ने बिजली विभाग के कार्यों पर नाराजगी जताते हुए उन समस्याओं को गंभीरता से निराकृत करने का निर्देश सीएसपीडीसीएल के अधिकारी को दिया। ग्राम गुड़ी की श्रीमती गायत्री गुप्ता ने आवेदन दिया कि उनके जमीन से संबंधित फौती नामांतरण के लिए वह विगत दो वर्ष से तहसील कार्यालय के चक्कर लगा रही है। उसका काम अभी तक नहीं हुआ है। प्रभारी मंत्री ने तहसीलदार को कड़ी फटकार लगाई। साथ ही अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मस्तूरी पर भी नाराज हुए और कहा कि राजस्व से संबंधित जितने भी मामले हैं वे 31 दिसंबर तक निराकृत कर लिये जाए। सूखा राहत के लिए विगत् डेढ़ वर्ष से राशि नहीं मिलने की शिकायत पर कार्रवाई करने के निर्देश दिये। धान खरीदी के संबंध में भी अनेक आवेदन प्रभारी मंत्री को  दिए गए, जिसकी जांच के लिए उन्होंने जिला मार्कफेड अधिकारी निर्देश दिये। रोजगारमूलक योजनाओं में हितग्राहियों को सरलता से ऋण उपलब्ध कराने के लिए लीड बैंक अधिकारी को निर्देशित किया गया। पशु पालन विभाग की योजनाओं के लिए भी अनेक आवेदन प्राप्त हुए। जिस पर समयसीमा में प्रकरण स्वीकृत करने के निर्देश पशु चिकित्सा अधिकारी को दिया गया। श्री चन्द्राकर ने पीडब्ल्यूडी अधिकारी को निर्देशित किया कि क्षेत्र की सड़कों का मरम्मत समयसीमा में करें। विगत् दो वर्ष से छात्रवृत्ति नहीं मिलने के आवेदन को भी उन्होंने गंभीरता से लिया। इस संबंध में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को विभाग स्तर पर कार्यवाही के निर्देश दिए। राशन कार्ड से संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिए उन्होंने कैम्प लगाने का निर्देश दिया। खाद्य विभाग से संबंधित अनेक शिकायतें प्राप्त हुई जिसकी जांच के लिए जिला खाद्य नियंत्रक को निर्देशित किया गया। मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत् निर्मित सड़क की गुणवत्ता के संबंध में भी प्रभारी मंत्री का ध्यान आकर्षित कराया गया, जिसकी जांच के लिए निर्देश दिए गए। शिविर में आवास, अविवादित नामांतरण, बंटवारा, बेजाकब्जा, सिंचाई आदि से संबंधित आवेदन लोगों ने दिए। प्रभारी मंत्री ने सभी समस्याओं को गंभीरता से सुना। उन्होंने कहा कि शासन, प्रशासन आपका है यह आम जनता को महसूस कराना हम सब की जवाबदारी है। इस अवसर पर सांसद श्री लखनलाल साहू, पूर्व मंत्री डाॅ. कृष्णमूर्ति बांधी, रजनीश सिंह, रामदेव कुमावत, मस्तूरी जनपद अध्यक्ष चांदनी भारद्वाज, पुलिस अधीक्षक श्री मयंक श्रीवास्तव, प्रभारी कलेक्टर श्री के.डी. कुंजाम, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती फरिहा आलम सिद्दकी सहित क्षेत्र के अन्य जनप्रतिनिधि, विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी तथा क्षेत्र के नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

 

—000—-

LEAVE A REPLY