युवराज यादव, कसडोल
कसडोल  । नगर के एक मात्र मुक्तिधाम में वर्षों पुराने पूर्वजों के समाधियों को नगर पंचायत द्वारा जे सी बी मशीन से उखाड़कर  समतलीकरण किए जाने से नागरिकों नगर पंचायत अध्यक्ष एवं सी एम ओ के प्रति आक्रोश व्याप्त है।आक्रोशित नागरिकों ने जिला कलेक्टर को लिखित शिकायत करते हुए नगर पं अध्यक्ष एवं सी एम ओ के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।
                        नगर में स्थित एक मात्र मुक्तिधाम है जहाँ पर लोग अपने घर के मृत व्यक्ति को दफनाने के बाद वहां पर उनके स्मृति में समाधि निर्माण कराते हैं।लोगों की आस्था से जुड़े समाधियों पर नगर पंचायत कसडोल द्वारा सौंदर्यीकरण के नाम पर जे सी बी मशीन से तोड़ा जा रहा है। पुराने एवम् नया मठों को नगर पंचायत के द्वारा जे ,सी, बी, मशीन से  यहां के नागरिकों में नाराजगी देखने को मिल रहा है। नगर के प्रबुद्ध नागरिकों ने नगर पंचायत के इस कृत्य का विरोध करते हुए इसकी तीखी आलोचना की है।
 यहां के प्रबुद्ध जन गिरीजा साय गुनी राम साहू ऋत्विक मिश्रा महेंद्र बंजारे सुरेंद्र पांडेय सुरेश कुमार साहू संजीव साहू मन्नू साहू राम कुमार कैवर्तय सहित अनेको लोगो ने जिलाधीश बलौदा बाजार  मुख्य सचिव छत्तीसग़ढ शासन  नगरीय प्रशासन विभाग रायपुर संचालक नगरीय प्रशासन रायपुर एवम् अनुविभागीय अधिकारी कसडोल को लिखित शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग किया है।गिरिजा साय ने कहा कि यह लोगो की आस्था पर कुठाराघात है।संदौरियकरण के नाम पर लोगो की आस्था पर कुठाराघात करने वाले अधिकारी कर्मचारी एवं परिषद के विरुद्ध कार्यवाही नही होने पर देश के महान लोगो के मठ को भी कोई भी ब्यक्ति तोड़ फोड़ कर सकता है। जहां लोग आस्था के साथ एवम् गर्व से बताते है कि यह हमारे महान पूर्वज ने देश समाज एवम् लोगो के लिए बलिदान दिया है। किसी धर्म की परंपरा एवम् आस्था पर बुलडोजर या जे,सी,बी, चलाना एक प्रकार का तानाशाह ही है। इनके विरुद्ध कार्य वाही होना चाहिए।अन्यथा यह उदाहण बन जायेगा कि कसडोल में मठ को उखाड़ कर फेंके जाने पर जब कार्यवाही नही हुआ तब यहां क्यो। इस सम्बंध में नागरिकों का कहना है कि जब से योगेश बंजारे नगर पंचायत अध्यक्ष बने हैं तब से उनके स्वेच्छा – चारिता एवं भ्रष्टाचार से आम नागरिक परेशान हैं।img-20171201-wa0209 img-20171201-wa0208

LEAVE A REPLY