उत्तर प्रदेश के जाने माने ठाकुर नेता शेर सिंह राणा उर्फ़ पंकज सिंह आज उत्तरांचल में परिणय सूत्र में बंध गए
ठाकुर सबसे पहली बार दस्यु सुंदरी फूलन देवी की हत्या करने के बाद ही चर्चा में आये थे जिमी उसे सजा भी हुयी
सज़ा के दौरान फ़िल्मी स्टाइल में तिहाड़ से फरार होकर
अपने फरारी के दिनों के बारे में राणा ने जो खुलासा किया वह आश्चर्यजनक था। राणा ने दावा किया कि अफगानिस्तान के गजनी इलाके में हिन्दू सम्राट पृथ्वीराज चौहान की रखी अस्थियों के अपमान की जानकारी मिलने को लेकर वह बेहद दुखी था और उसने उसे वापस लाने की ठानी। फरारी के बाद उसने सबसे पहले रांची से फर्जी पासपोर्ट बनवाया। नेपाल, बांग्लादेश, दुबई होते हुए अफगानिस्तान पहुंचा। जान जोखिम में डालते 2005 में वह अस्थियां लेकर भारत आया। राणा ने पूरे घटनाक्रम की वीडियो भी बनाई। ताकि वह अपनी बात को प्रमाणित कर सके। बाद में राणा ने अपनी मां की मदद से गाजियाबाद के पिलखुआ में पृथ्वीराज चौहान का मंदिर बनवाया, जहां पर उनकी अस्थियां रखी गई।

LEAVE A REPLY