पुरे प्रदेश में चल रही मायावती की लगातार चौथी बार राज्यसभा जाने की बात को आज पूर्णविराम लग गया जब बसपा सुप्रियो ने कहा कि बसपा में परिवार वाद की स्थान नही है।और स्वार्थ से ऊपर उठकर अपने पार्टी के पूर्व विधायक भीमराव अंबेडकर जो की मूलतः इटावा जनपद के है।साथ ही पूर्व में लखना विधानसभा से विधायक रह चुके है
पार्टी के संस्थापक कांशीराम के बेहद करीबी भी है भीमराव।
आज बसपा प्रमुख ने अपने भाई सहित किसी को भी को भी परिवारवाद के चलते पद नही दिए जाने की बात कही

LEAVE A REPLY