हिमाचल प्रदेश : शूलिनी यूनिवर्सिटी ने गुणवत्तापूर्ण रिसर्च का प्रदर्शन करते हुए देश की प्रमुख यूनिवर्सिटी को पीछे छोड़ा

विश्व की 10 प्रमुख यूनिवर्सिटीज की बराबरी, अंतरराष्ट्रीय सहभागिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

लता सूर्यवंशी ;धर्मशाला

शूलिनी यूनिर्वरसिटी ,जिला सोलन में स्थित ने शीर्ष 10 भारतीय यूनिवसिर्टीज और आईआईटी की तुलना में अनुसंधान की गुणवत्ता में बेहतर प्रदर्शन किया है और यूनिवर्सिटी गुणवत्ता रिसर्च में इंटरनेशनल यूनिवर्सिटीज के समक्ष है। यूनिवर्सिटी ने अंतरराष्टीय स्तर पर प्रासंगिक रखती है, और साईवल के महत्वपूर्ण परिणामों में अपना प्रमुख प्रभाव डाल रही है।

साईवल, एकमात्र स्वतंत्र और प्रामाणिक वैश्विक डेटा बेस है। दुनिया भर में 7,000 शोध संस्थानों और 220 देशों के अनुसंधान प्रदर्शन तक प्रदान करता है।

श्री विशाल आनंद, संस्थापक ट्रस्टी, शूलिनी यूनिवर्सिटी ने कहा *जब बात प्रकाशनों पर साईशंस की बात आती है तो सभी भारतीय यूनिवर्सिटीज और आईआईटी में उच्चतम स्कोर करती है और जब विश्व भर में प्रमुख 10 प्रतिशत प्रकाशनों की बात आती है तो विश्व की टॉप यूनिवर्सिटीज के करीब है।

आंनद ने बताया कि शूलिनी यूनिवर्सिटी, अब हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उतराखंड और जम्मू कश्मीर राज्यों सहित उतरी क्षेत्र के प्रमुख पांच निजी यूनिवर्सिटीज में से एक है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा प्रतिष्ठित नेश्नल इंस्टीटयूटशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क द्वारा दी गई रैंकिंग के अनुसार उतर भारत के पांच शीर्ष निजी शूलिनी यूनिवर्सिटीज में से एक है।

 

LEAVE A REPLY