इस कारण, पूरी प्लानिंग के साथ भागा था 13 साल का छात्रimg-20180608-wa0126

*विनोद चड्ढा बिलासपुर*

पालमपुर के धीरा से एक स्कूल से लापता 13 साल के बच्चे को चक्की बैंक पठानकोट से पिछली रात बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि बच्चा टेस्ट में कम नंबर आने के कारण घबराकर घर से भाग गया था।

मिली जानकारी के अनुसार छात्र स्कूल से छुट्टी के बाद बस चालक को यह कहकर स्कूल बस में नहीं बैठा कि उसके पापा के साथ दोस्त के घर जाना है। उसके बाद छात्र निजी बस से नाल्टी में उतरा। उसके बाद वहां से एक अन्य बस में ही वह कांगड़ा तक गया। कांगड़ा में एक स्थान पर उसने शॉपिंग की और स्कूल की वर्दी खोलकर नए पकड़े डाले। खरीददारी करने के बाद छात्र कांगड़ा रेलवे स्टेशन पहुंचा और वहां से शाम को पठानकोट जाने वाली ट्रेन में बैठ गया। छात्र दिल्ली जाने के लिए पूरी तैयारी के साथ भागा था। इसके लिए वह घर से पैसे भी ले गया था।

उसके बाद बच्चा करीव 11 बजे ट्रेन से पठानकोट पहुंचा और दिल्ली जाने वाली ट्रेन का टिकट लिया लेकिन बच्चें को ये समझ नहीं आया कि उसने किस जगह बैठना है। इसलिए उसने ट्रेन के टीटी से इसकी जानकारी मांगी, टीटी ने छोटे बच्चे को अकेला पाकर सूझबूझ का परिचय देते हुए बच्चे को स्टेशन मास्टर के पास ले गया। जहां उससे पूरी जानकारी मांगी गई। जिसके बाद बच्चे के परिजनों को फोन किया गया और रात को लगभग तीन बजे छात्र के परिजन चक्की बैंक पहुंचे। जहां से उसे वापस घर लाया गया।

डीएसपी कांगड़ा विकास धीमान ने बताया कि पुलिस को जैसे ही सूचना बच्चे के भागने की सूचना मिली, तुरंत प्रभाव से नाकेबंदी कर दी गई साथ ही सोशल मीडिया पर फोटो भी डाले गए। एसपी कांगड़ा संतोष पटियाल ने भी बार्डर एरिया में भी फोटो दे दिए। पुलिस के संयुक्त प्रयासों के कारण बच्चे को चक्की बैंक में ढूंढ लिया गया जहां पर टीटी ने उसे रोक लिया था।

LEAVE A REPLY