महिलाओ के ऊपर हो रहे हत्याचारो पर बिटिया फाउडेशन ने की चिंता ब्यक्त

 

*दिव्या खिन्द्री को पंजाब की अध्यक्ष नियुक्त किया गया*img-20180610-wa0139

 

 

*विनोद चड्ढा कुठेड़ा बिलासपुर*

 

अत्याचारों से पीड़ित  महिलाओ-  युवतियों की बिटिया फाउंडेशन मदद करेगी साथ ही फाउंडेशन महिलाओं को जागरुक करने के लिए विशेष अभियान चलाएगी अमृतसर में दिव्या खिन्द्री  को पंजाब की अध्यक्ष नियुक्त किया गया उनकी देख रेख में अमृतसर में आज बिटिया फाउडेशन की बैठक हुई जिसने पंजाब में बढ़ रहे अत्याचार ,महिला हिंसा, खरेलू हिंसा,बलात्कार,और नशा दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है मगर ना तो सरकार इस और ध्यान दे रही है और ना कोई संस्था इस और ध्यान दे रही है दिन प्रतिदिन हत्या बलात्कार और नशे के केश सामने आ रहे है।या एक चिंता का विषय है ।सिमा सांख्यान ने कहा कि अगर लोगो द्वारा ऐसी तरह बेटियो पर अत्याचार होता रहा और उन्हें माँ के  गर्व में ही गतम करवाया गया तो इस समाज से नारी जाती का अस्तित्व ही नष्ट हो जायेगा जिसके लिए बिटिया फाउडेशन आज नारी की रखा की लड़ाई लड़ रही है ।आज इस संस्था ने हिमाचल में ना जाने समाज द्वारा ठुकराई महिलाओ की सादिया ही नही कारबाई बल्की उन्हों उनका या अधिकार भी दिलाया आज बो ही काम पंजाब में बिटिया फाउडेशन करने जा रहा है जिसका जीमा।    को सौंपा गया है पंजाब की बिटिया फाउडेशन जल्दी पुरे पंजाब में एक मुहीम चलाने जा रही है ।जो भी नशे में महिलाओ को तंग करेगा  बिटिया फाउडेशन कड़ी से कड़ी सजा दिलाएगा ।और पंजाब की अध्यक्षा दिव्या खिन्द्री ने कहा कि या संस्था रात दिन महिलाओ के उत्थान के लिए खड़ी है ।जिन महिलाओं को न्याय नही मिल रहा है उन महिलाओ की या संस्था कंधे से कंधा मिला के चलेगी । उन्होंने सभी लोगो से आगरा किया कि बो इस कार्य में बिटिया फाउडेशन की मदत करे ताकि नारी जाती के अस्तित्व को खतरे से बचाया जा सके।

सीमा संख्यान  ने बताया कि अमृतसर में जिन महिलाओं के साथ ऐसी घटना होती हैं जिनकी मदद को फाउंडेशन आगे आ सके इसके लिए बिटिया फाउडेशन ने एक कमेटी का गठन किया जिसका प्रधान  अपार सिंह

बनाये गए या कमेटी और बिटिया फाउडेशन महिलाओं को जागरुक के लिए विशेष अभियान शुरू कर रही है अभियान हिमाचल से शुरू होता हुआ पंजाब तक पहुंच चुका है उन्होंने मौजूदा समय में बढ़ते बलात्कार के मामले तथा तथा इन मामलों में हो रही बढ़ोतरी के कारणों पर चर्चा कि ऐसे मामलों के बढ़ने के कारण माता-पिता अपनी बेटियों को घरों से बाहर भेजने से डर रहे हैं इसकी वजह से युवतियों की पढ़ाई भी प्रभावित हो रही है उन्होंने कहा कि अमृतसर एक पर्यटक स्थल है लेकिन यहां भी ऐसी घटनाएं हो तो यहां के लोग अपनी बेटियों को बाहर भेजने से डर रहे हैं या ज्ञान चिंता का विषय है ऐसी घटनाओं में इजाफा होने का कारण महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूकता का अभाब है जब  तक महिलाये  अपने अधिकारों के प्रति जागरुक नहीं होंगे तब तक अत्याचारों से मुक्ति नहीं मिलेगी इस बैठक में  कन्ता नाग राणा, नवदीप कपूर,कारण कपूर,डिम्प्ली अरोरा, गौरव ,राजिंदर आदि लोग उपस्तिथ थे

LEAVE A REPLY