होमगार्ड के नौवीं बटालियन ने मनाया अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस20180626_115012
धर्मशाला, 26 जून- चिकित्सा विभाग कांगड़ा के सौजन्य से आज नौवीं बटालियन होमगार्ड के प्रशिक्षण केन्द्र धर्मशाला में अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में होमगार्ड जवानों व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुये कार्यक्रम की मुख्यातिथि जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनुराधा ने अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर युवाओं को इस बुराई से दूर रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि युवाओं को पढ़ाई लिखाई के साथ-साथ खेलों से जोड़ने से काफी हद तक इस समस्या का समाधान सम्भव हो पायेगा।
उन्होंने कहा कि इस दिवस का उद्देश्य मादक पदार्थों के उत्पादन, तस्करी एवं सेवन इत्यादि से होने वाले नुकसान से अवगत करवाकर इस बुराई को समाज से मिटाने की दिशा में अपने दायित्वों का बोध करवाना है। समाज में बढ़ती हुई मद्यपान, तम्बाकू, गुटखा, सिगरेट पीने की लत एवं नशीले मादक द्रव्यों, पदार्थों के दुष्परिणामों से समाज को अवगत कराना है, ताकि मादक द्रव्य एवं मादक पदार्थों के सेवन की रोकथाम के लिए उचित वातावरण एवं चेतना का निर्माण हो सके।
    इस दौरान मनोचिकित्सक डॉ. अनीता ने जानकारी देते हुये बताया कि मादक पदार्थों के नशे की लत आज के युवाओं में तेजी से फैल रही है। 10 से 25 वर्ष आयु के बीच युवाओ में नशे की लत में फंसने की संभावना अधिक होती है।
उन्होंने बताया कि कई बार फैशन की तरह या दोस्तों के बोलनेे पर लिए गए मादक पदार्थ जानलेवा सिद्ध होते हैं। कई बार तो बच्चे घर के ही सदस्यों से नशे की आदत सीखते हैं। उन्होंने बताया कि मादक पदार्थों का सेवन कर रहे लोगों की नशे की लत छुड़ाने के लिए क्षेत्रीय अस्पताल व प्रयास भवन धर्मशाला में विशेष सुविधा उपलब्ध है।
उल्लेखनीय है कि अंतर्राष्ट्रीय नशा निरोधक दिवस प्रत्येक वर्ष 26 जून को मनाया जाता है। यह एक तरफ लोगों में चेतना फैलाता है, वहीं दूसरी ओर नशे की लत में लिप्त लोगों को नशे की आदत के त्याग के लिये आत्मबल को बढ़ाने तथा लत से बाहर निकलने की दिशा में भी सहायक वातावरण तैयार करता है।

LEAVE A REPLY