बेटे को लेने खुद कोर्ट पहुंचे पूर्व विधायक बम्बर ठाकुर, चरस बरामदगी का चर्चित मामला

 

*विनोद चड्ढा कुठेड़ा*

 

7 दिनों तक जुवेनाईल होम में रहने के बाद आज जुवेनाईल कोर्ट ने पूर्व विधायक बम्बर ठाकुर के बेटे को उसके परिवार के हवाले कर दिया। खास बात यह रही कि आज पूर्व विधायक बम्बर ठाकुर खुद अपने बेटे को ले जाने के लिए कोर्ट पहुंचे और पूरी कार्रवाई  में शरीक हुए। कोर्ट ने दूसरे नाबालिग को भी उसके परिजनों के हैंडओवर कर दिया है। बता दें कि यह दोनों नाबालिग दो अन्य युवकों के साथ बीती 20 जून को मंडी शहर के पास 498 ग्राम चरस के साथ पकड़े गए थे।

 

 

इस मामले में एक और पहलू सामने आया है। बम्बर ठाकुर के बेटे की उम्र के दो प्रकार के दस्तावेज सामने आ रहे हैं, जिसमें एक के अनुसार वह बालिग है जबकि दूसरे के अनुसार नाबालिग। मेट्रिक के सर्टिफिकेट और आधार कार्ड के अनुसार उसकी उम्र अभी 17 वर्ष है जबकि बर्थ सर्टिफिकेट और पंचायत रिकार्ड के अनुसार उसकी उम्र 18 वर्ष की हो चुकी है। लेकिन अभी प्रारंभिक दृष्टि में कोर्ट ने मेट्रिक के सर्टिफिकेट को ही आधार मानते हुए इसे नाबालिग माना है और परिजनों के हवाले कर दिया है।

एएसपी मंडी भूपिंद्र सिंह कंवर ने नाबालिगों को उनके परिजनों के हवाले करने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि जन्मतिथि को लेकर दो अलग-अलग प्रमाण सामने आ रहे हैं और इस बारे में लीगल ओपिनियन लेकर आगामी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि चरस के साथ दो युवक भी पकड़े गए थे जिनमें से एक को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है जबकि दूसरे का अभी रिमांड जारी है। उन्होंने बताया कि इस मामले के हर पहलू को ध्यान में रखकर पुलिस अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है।

LEAVE A REPLY