देव राज ने प्रशासन के रवैए से परेशान होकर आमरण अनशन पर बैठने का निर्णय लिया है।img-20180715-wa0027

 

विनोड चड्ढा कुठेड़ा

 

घुमारवीं क्षेत्र की बम पंचायत के अंतर्गत आने वाले कोटलू गांव के देवराज उम्र (46) वर्ष पुत्र उद्दो राम ने प्रशासन के रवैए से परेशान होकर आमरण अनशन पर बैठने का निर्णय लिया है। देवराज का कहना है कि वह प्राइवेट नौकरी कर अपनी बेटी और पत्नी के साथ रहते हैं। उनके द्वारा बनाया गया पुराना मकान गिरने की कगार पर है तथा नया मकान नंबर खसरा 280/42 गांव कोटलू में बनाया गया है परंतु गांव में बलदेव रतन, अमरनाथ, लालचंद पुत्र पंछी राम मेरे मकान के एक कमरे को तथा उत्तरी दिशा की दीवार को अपनी मलकियत जमीन में होने का दावा करते हैं जिस वजह से मेरे मकान में खिड़कियां तक नहीं लगने दे रहे हैं। इसके लिए वह मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। इस झगड़े को खत्म करने के लिए निशानदेही के लिए आवेदन किया था परंतु पिछले 6-7 सालों से उपरोक्त लोग विभाग से मिले हुए हैं और निशानदेही नहीं दे रहे हैं। मैंने कई बार महोदय के कार्यालय में भी आवेदन दिए हैं इसके बावजूद भी पिछले काफी सालों से विभाग के कर्मचारी निशानदेही नहीं दे रहे हैं। विभाग के निशानदेही ना देने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश का सारा पानी घर के अंदर आ रहा है तथा बरसात के इन दिनों में खिड़कियां ना होने की वजह से मच्छर और सभी तरह के कीड़े मकोड़े घर के अंदर आ रहे हैं। अपने ही घर में रहना मुश्किल हो गया है।

विभाग की तरफ से लगातार मिल रही हार से परेशान होकर दुःखी मन से देवराज ने निर्णय लिया है कि यदि 14 जूलाई अपनी पत्नी सहित ग्राम पंचायत बम उप तहसील भराड़ी जिला बिलासपुर के प्रांगण में दिनांक 14 जूलाई 2018 को सुबह 10:00 बजे आमरण अनशन पर बैठेंगे। यदि इस दौरान उनकी पत्नि, बेटी व किसी भी परिवार के सदस्य की मौत हो जाए तो इसके लिए  जिला प्रशासन व हिमाचल प्रदेश सरकार जिम्मेवार होगी। इसको लेकर मुख्यमंत्री को डाक सहित प्रतिलिपि भेजी गई है तथा पुलिस विभाग, DSP घुमारवीं, s h o पुलिस स्टेशन भराड़ी, SDM घुमारवीं, नायब तहसीलदार भराड़ी, प्रधान ग्राम पंचायत बम, जिला पार्षद सुभाष ठाकुर व विधायक घुमारवीं राजेंद्र गर्ग को सीधे स्वयं जाकर प्रतिलिपि दी गई है।

उप तहसील भराड़ी ऑफिस कानगोह हेमराज का कहना है कि नायब तहसीलदार भराड़ी का पद पिछले काफी दिनों से रिक्त होने की वजह से आमरण अनशन का पत्र उन्हें सौंपा गया है। पिछले काफी दिनों से काम का चार्ज घुमारवीं तहसीलदार द्वारा देखा जा रहा है जैसे ही वह ऑफिस में आएंगे तो उन्हें इस विषय को लेकर अवगत करवाया जाएगा तभी इसके विषय में कुछ कहा जा सकता है।

ग्राम पंचायत प्रधान अंजना कुमारी ने कहा कि या पंचायत में आया था और उन्होंने आज के लिए अनशन पर बैठने की अनुमति मांगी थी मगर मैने इंकार कर दिया था ।मगर जिन्होंने कहा कि मैने पहले से ही यह जगा चूज कर रखी है । और आज सुबह 10 बजे वह अपनी पत्नी अंजलि और 3 साल की बेटी के साथ अनशन पर बैठ गया है। जिसकी सूचना  बिधायक राजेन्द्र गर्ग, उपयुक्त बिलासपुर,और sdm घुमारबी था थाना भराड़ी को सुचना दे दी गई है।

 

SDM घुमारबी साशी पाल ने कहा देव राज की जमीन की पहले कई बार निशान देही हो चुकी है । जो दुस्टीब्यूट इनका  बो  बलदेव के साथ चला है बो है मकान का की मकान में दरबाजे और खिड़कियां नही लगाने दी जा रही है।जिसका केश  सिविल कोर्ट में चला हुआ है । और रही कोट से अपील की  बात निशानदेही की तो पिछले कल भी नायव तहसील दार को निशानदेही के लिए मोके पर भेजा गया था मगर दूसरी पार्टी ने फसल बर्बाद होने की बात की तो निशानदेही नही हो पाई ।मगर जैसे ही फसल की कटाई होती है तो निशान देही दे दी जायेगी।

LEAVE A REPLY