कसडोल विकासखंड में कृषि विभाग द्वारा चलाए जा रहे जैविक खेती मिशन योजना के कड़ी में ग्राम देवरीखुर्द, देवरी कला में गणेश चतुर्थी पर्व के साथ जैविक प्रदर्शन में शामिल कृषकों को जैविक आदान सामग्री एवं संशसाधन निशुल्क उपलब्ध कराया गया ।कुल चयनित 50 कृषकों को प्लास्टिक ड्रम गोमूत्र से कीटनाशक दवा बनाने के लिए प्रदान किया गया एवं जैविक दवा बनाने की विधि बताई गई साथ ही पैडी विडर एक 1नग, नीम से बनी एजाडिरेक्टिन दवा 1 लीटर दिया गया । प्रदर्शन प्रभारी धनेश्वर साय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, पी के घृतलहरे कृषि विकास अधिकारी, बी एस ठाकुर वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, कार्यालय स्टाफ कामेश धनगर, सुनील खांडेकर,रीतेश मिश्रा आदि द्वारा जागरुकता लाने अथक प्रयास किया जा रहा है । पी एस बी कल्चर ,सन ढेंचा से हरी खाद,वर्मी खाद,केचुआ खाद,पंचगब्य,फैरौमेनटरेप,लाईटटरेप,माईकोराईजा,नीलहरित काई,आदि विभिन्न जैविक तकनिकी से प्रशिक्षित कराया जा रहा है। फसल अवशेषों से खाद बनाने नाडेप टंका, केंचुआ पालकर वर्मी खाद बनाने हेतु वर्मी टांका बनवाया जा रहा है इस तरह रासायनिक दवाआओ एवं रासायनिक खादों का उपयोग पूर्णतह प्रतिबंधित कर जैविक विधि से खेती की जावेगी ।इस विधि से उत्पादित उपज का मूल्य दोगुना हो जावेगा जिससे किसानो की आय में वृधि होगी ।कृषि अधिकारियो द्वारा चोपाल लगाकर विसतृत जानकारी दी गई।सामग्री लेने प्रमुखरुप से कृषक महासिंग,मनीराम,साहेबलाल,सोनाराम,जगदीश,मंगलदास,शंकरलाल भूरवा राम सहित ग्रामिण जन उपसिथित रहे ।img-20180914-wa0033

LEAVE A REPLY