बिलासपुर में अवैध फटाखा भंडार पर पुलिस की नजर नही।
बिलासपुर । दीपावली के मद्दे नजर फटाखा के ब्यवसायी धड़ल्ले से फटाखे के भंडारण करने में लगे है। जो रेगुलर ब्यापारी है उनका तो भंडारण विशेष सुरक्षा के तहत रखे हुए है लेकिन कुकुरमुतों की तहत अवैध फटाखा ब्यापारी शहर के गली मोहल्लों में फैले हुए है और बिना सुरक्षा के फटाखा गलत तरीके से रखे गए है जो कभी भी कोई बड़ी हादसा होने की संभावना बनी हुई है क्या जिले की पुलिस इस ओर ध्यान देगी। लगता है चुनाव के कार्य में मसगुल पुलिस का ध्यान कतई नहीं है। या फिर शायद कोई बड़े हादसे का इंतजार तो नही कर रही है?
जबकि नियम यह कहता है फटाखा का भंडारण शहर से दूर सुरक्षित भवन में किया जाना चाहिए जबकि ब्यापारी शहर के घनी आबादी गली मोहल्ले जैसे कतियापारा, गोंडपारा, गोलबाजार, जुनीलाईन ,खपरगंज तालापारा, कुदुदंड, दयालबंद, तेलीपारा, करबला, जूना बिलासपुर सहित ब्यापार विहार में ब्यापारी अवैध तरीके से फटाखा का भंडारण किए हुए है ,आखिर शहर की सभी थाना क्षेत्रों की पुलिस क्यों सोई है? जबकि विस्फोटक अधिनियम 18 से 84 की धारा 9 ख (एक) व् (ख) और आईपीसी की की धारा 286 अवैध विस्फोटक अधिनियम के तहत कार्यवाही करने का प्रावधान पुलिस के पास है।

LEAVE A REPLY