*देवतालाब शिव मंदिर मे चढ़ावा उतारने को लेकर दिन भर होता है विवाद,श्रद्धालु होते है परेशान*
———————————–
*प्रबंध समिति व प्रशासन बना मूक दर्शक*

स्थानीय एैतिहासिक शिव मंदिर मे नवरात्री के अवसर पर श्रद्धालुओ की आवक बढ़ी है जिससे सुबह से ही यात्री गण शिवजी का जलाभिषेक करते हैं,परन्तु मंदिर मे रहने वाले पण्डा व राजश्व विभाग द्वारा तैनात चौकीदार हर समय पैसा उतारने या चढ़ोत्री की अन्य वस्तु का बन्दरबाट करने के आमादा रहते है लिहाजा मंदिर के अन्दर गर्भगृह मे ही एक दूसरे को अश्लील गाली गलौज कर के मंदिर मे अशान्ती का वातावरण निर्मित रहता है लिहाजा भगवान शिव की पूजा करने वाले श्रद्धालुगण हो हल्ला के कारण पूजा पाठ नही कर पाते है जिससे भक्तो की आस्था पर हो रहे कुठाराघात से देवतालाब शिव मंदिर की व्यापक छवि धूमिल हो रही है आपको बतादे कि इस तरह की घटना यहॉ कभी भी अनायास देखने को मिलती है जबकी मंदिर का प्रबंधन तथाकथित प्रबंध समिति द्वारा किया जाता है अध्यक्ष (एस.डी.एम.मऊगंज) व सचिव ( नायब तहसीलदार देवतालाब) के निर्देश पर पटवारी देवतालाब को मंदिर का प्रभारी बनाया गया है और पटवारी ने अपनी ओर से निजी व्यवस्थापक रख दिये है लिहाजा शिवमंदिर की व्यवस्था बद से बदतर हो चुकी है यहॉ पर किसी प्रकार की न तो व्यवस्था है और न ही कोई सुविधा इतना ही नही कलेक्टर रीवा द्वारा शिवमंदिर प्रबंध समिति मे लगभग एक दर्जन सदस्यो की नियुक्ति की गई है परन्तु प्रशासनिक अधिकारियो की मनमानी के आगे प्रबंध समिति के सदस्य औचित्य विहीन नजर आते है जिससे मंदिर की बदहाल हालात से यहॉ आने वाले श्रद्धालुओ की आस्था के साथ होने वाले खिलवाड़ के लिये जिम्मेदार लोगो पर कार्यवाही हो पाना असम्भव सा लगता है लिहाजा स्थानीय जन मानस ने कलेक्टर रीवा से शिव मंदिर की व्यवस्था के प्रति समुचित कार्यवाही किये जाने व निगरानी व व्यवस्था प्रबंध समिति सदस्यो के माध्यम से कराये जाने की मॉग की है | *प्रस्तुत है शिवमंदिर के अन्दर हो रहे हो हल्ले की एक झलक*

LEAVE A REPLY