आज भारत के सर्वप्रथम ग्रह मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सरदार वल्लभ भाई पटेल जिन्हें लौह पुरुष के नाम से भी ख्याति प्राप्त है की पुण्यतिथि के अवसर पर गुजरात मे आज विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा का अनावरण स्वयं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया
इस मौके पर पूरे देश के तमाम नेताओ ने सरदार को याद किया
इस मौके पर बसपा प्रमुख मायावती ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति पर अपने अंदाज में अपनी बात रखी
सर्वप्रथम मायावती ने सरदार को निर्विवाद रूप से देश का महान नेता माना और उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए
उसके बाद मायावती ने प्रश्न किया कि आखिर सरदार पटेल की मूर्ति पे 3000 करोड़ रुपये खर्च हुए उसपर उन्हें एतराज़ नही है
लेकिन आखिर जब दलित महापुरुषों नेताओ के नाम पर पार्क और मूर्ति का निर्माण व अनावरण हुआ तब आखिर यही लोग उसे फिजूलखर्ची क्यो बता रहे थे
यह अपने आप मे बहुत ही विचारणीय प्रश्न है।
गौरतलब है कि माया सरकार में मूर्ति निर्माण को लेकर उनकी चारो तरफ घोरनिन्दा हुआ थी और अंत मे उन्हें इसका खामियाजा सत्ता खोकर भुगतना पड़ा था ।

LEAVE A REPLY