जकांछ में कौन है जयचंद , जो पीठ पीछे पार्टी का बंटाधार करने पर है उतारू ,,,

श्याम पाठक @

बिलासपुर में विधानसभा की चुनाव जैसे जैसे नजदीक आने लगा है वैसे वैसे प्रत्याशियों की हुजूम लोगो के घर लगने लगी है प्रत्याशी हाथ जोड़ कर एक एक वोट मांग रहे  है,, जकांछ से चुनाव लड़ रहे बृजेश साहू भी मैदान में डट गये है और घर घर जा कर अपने लिए वोट मांग रहे है ,, वही बृजेश साहू के बारे में लोगो का कहना है कि बृजेश साहू एक अच्छा प्रत्याशी के रूप में है ,, अब सवाल ये उठता है कि बृजेश साहू के पीठ पीछे ही पार्टी के ओ कौन लोग है जो गणित कर रहे है ,, राजनीतिग्यो का कहना है कि जकांछ पार्टी में कुछ जयचंद है जो पार्टी का बंटाधार करने में लगे है ,,

अजित जोगी एक अच्छा व्यक्तित्व प्रतिभा के धनी  सरल स्वभाव के रूप में माने जाते है ,,उनका एक अलग ही स्थान और पहचान है ,,  लेकिन वही उनके पीठ के पीछे कुछ  जयचंद जैसे लोग पार्टी की छवी का मटियामेट करने में लगे है ,, खैर एक कहावत है कि जब जागा तभी सबेरा ,, अब यह विडंबना देखो अरे भाई ये क्या सेठ जी के अलावा ये दूसरा शेठ कौन है भाई, यह दूसरा राजेश सेठ है ,, जी हां  आसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष है ,, आप ने सही सुना ,, आप सब की अपनी पार्टी से बिलासपुर विधानसभा की प्रत्याशी रजनी सेठ के पति है ,, राजेश शेठ का कहना है कि हमे लोगो का भरपूर सहयोग मिल रहा है ,, अब यहा एक सवाल यह उठता है कि सेठ पर क्या राजेश सेठ भारी पड़ेंगे ,, यह आने वाला वक्त ही बताएगा ,, भीड़  से एक आवाज आई ये टोपी वाला बाबा कौन है,, किसी ने कहा कि भाई ये बाबा नही है यह साहब तो आम आदमी पार्टी के बिलासपुर प्रत्यशी डॉ शैलेश आहूजा है ,, झाड़ू इनका जुनाव चिन्ह है इस लिए झाड़ू ले कर घूम रहे है और लोगो घर घर जा कर हाथ जोड़कर विनम्रतापूर्वक वोट मांग रहे है डॉ शैलेश आहूजा हाईकोर्ट में अधिवक्ता है इनका समाज मे अच्छी पकड़ है ,, डॉ शैलेश आहूजा दो दो सेठ से कैसे लड़ेंगे यह देखने वाली बात होगी ,, अब ये मत कह देना की ये झाड़ू वाला बाबा कौन है ,,

 

LEAVE A REPLY