पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बागी चाचा शिवपाल यादव की नई पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(लोहिया) की पहली रैली रविवार को लखनऊ के रमाबाई पार्क मैदान में होनी है जिसके चलते शिवपाल यादव को जनसैलाब की जरूरत है ।
ऐसे में कौशाम्बी जनपद के ब्राह्मण नेता शशिभूषण द्विवेदी उर्फ बालम महाराज से शिवपाल को बड़ी उम्मीदें है ।
गौरतलब है शशिभूषण द्विवेदी की जनपद के ब्राह्मण समाज मे अच्छी पकड़ है। अपने तेज़तर्रार और हाज़िर जवाबी के चलते बालम किसी भी पार्टी में ज्यादा दिन तक नही रुकते।
बालम ने हालहि में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर अपने पुराने मित्र शिवपाल यादव के साथ गए है।
इससे पहले बालम सत्तारूढ़ बहुजन समाज पार्टी व सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी व अपना दल सहित आधा दर्जन छोटे बड़े राजनैतिक दलों की सदस्यता लेकर उनके झंडे के नीचे रह चुके है।
बालम की माने तो सम्मान और वजनता कि कमी जैसे ही दिखती है मैं राजनैतिक दल से त्यागपत्र दे देता हूँ।
इस बार शिवपाल की रैली में लगभग एक हज़ार से ज्यादा की भीड़ लेकर बालम लखनऊ रवाना होंगे ।
मूलतः सदर विधानसभा मंझनपुर के महिला गांव निवासी बालम चायल व मंझनपुर विधानसभा में बहुत अच्छी पकड़ है साथ ही सिराथू में बालम के ठीक ठाक समर्थक है।
चायल विधानसभा चुनाव में बालम अपना दल के टिकट पर 2012 विधानसभा चुनाव में हाथ आजमा कर अपनी पकड़ को जगज़ाहिर कर चुके है उस चुनाव में उन्हें हार मिली लेकिन लगभग 20 हज़ार मतदाताओं ने बालम को समर्थन दिया था जिसमे पार्टी से ज्यादा बालम के व्यक्तिगत समर्थक थे ।

LEAVE A REPLY