छत्तीसगढ़ की धरती पर जन्मे अभिनेता महेंद्र मेवाती के निधन पर छत्तीसगढ़ी फिल्म के जाने माने अभिनेता अखिलेश पांडे ने इसे अपनों ने अपूरणीय क्षति बताया उन्होंने बताया की उनमें कमाल की एक्टिंग प्रतिभा थी और उन्होंने अपनी फिल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया है और उनका इस तरह अचानक निधन हो ना बहुत ही दुखद है उनके निधन की खबर सुनकर वह हतप्रभ है और भावुकता से भरे हुए लहजे में उन्होंने उन्हें श्रद्धांजलि दी और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया सरगुजा की माटी के मंझे कलाकार, NSD के टीचर होने के साथ-साथ थिएटर की वह हस्ती थे है जिनके नाम से शो की टिकट में बिकती थी। मेवाती अभिनय को जीते थे। मेवाती कि मुंबई में 45 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके निधन से छत्तीसगढ़ के रंगमंच व नाटकों से जुड़े कलाकार स्तब्ध हैं।

महेंद्र मेवाती ने थिएटर से फिल्मों तक का सफर तय किया था। उन्होंने कई मशहूर नाटक दिल्ली के थिएटर में किए थे, जिनमें औरंगजेब, अपराध और सजा थैंक यू बाबा लोचन दास जैसे नाटक काफी चर्चित हुए। हर रोज दिल्ली के मंडी हाउस के थिएटर में महेंद्र में होती के नाम पर टिकटें बिकती थी।

रंगमंच का मंझा हुआ कलाकार फिल्मी दुनिया में भी अपनी जबरदस्त अभिनय का लोहा मनवा चुका था। सुपरहिट फिल्म भाग मिल्खा भाग, तेवर और हाल ही में रिलीज सुप्रसिद्ध फिल्म केदारनाथ में उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

  • अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने सोशल मीडिया पर महेंद्र को श्रद्धांजलि दी है।

LEAVE A REPLY