बिलासपुर। भारतीय राष्टीय कांग्रेस की तीन राज्यो में जबरजस्त जीत के बाद छत्तीसगढ़ में भले ही कांग्रेस की सरकार बन गई हो लेकिन,

प्रदेश कांग्रेस में बड़े नेताओं के बीच मतभेद और मनमुटाव अभी खत्म नही हुआ है। ताज़ा उदाहरण बिलासपुर में देखने को मिला। जहां प्रेसवार्ता में मंत्री के साथ बैठने की जगह नही मिलने से बिलासपुर के विधायक शैलेश पाण्डेय चलते प्रेस कॉन्फ्रेंस से उठ कर बाहर निकल गये। विधायक शैलेश पाण्डेय के साथ ऐसा पहले भी हो चुका है जब कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेता उनकी उपेक्षा करते हुये मुख्यमंत्री के पहली बार बिलासपुर आये थे उस समय भी गुलदस्ता देने के समय उसका हाथ खिंचा वो भी सार्वजनिक जगहों पर।नाराज विधायक इस बार फिर अपने अपमान को चुपचाप सह लिया है। दरअसल बीती शाम कांग्रेस सरकार की केबिनेट में मंत्री जयसिंह अग्रवाल शहर पहुंचे..छत्तीसगढ़ भवन में कांग्रेसियों ने उनका हार मालाओं से स्वागत किया.. जिसके बाद राजस्व मंत्री कांग्रेस भवन में पहुंचकर पदाधिकारियों से चर्चा की.. इस दौरान मंत्री जयसिंह मीडिया से मुखातिब हुए..रमन सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी सरकार बदले की राजनीति नही करती, जो रमन सरकार गई है, 15 साल में जनता के साथ न्याय नहीं कर पाए, जनता के हित में काम नहीं कर पाए। लंबित पड़े राजस्व के मामलों के निपटारे के बारे में कहा कि राजस्व के मामले में बहुत सी पेचीदगियां है, उसे दूर करेंगे। खनिज न्यास के पैसों में पिछली सरकार में जिलों जो बंदरबाट हुई उसकी जांच कराएंगे। नई कमिटियां बनाई जाएंगी। आगे जो भी खनिज न्यास का पैसा खर्च होगा, कानून के अनुसार होगा। प्रेसवार्ता में मंत्री के करीब बैठने के लिए जमकर अव्यवस्था नज़र आई..एक बार फिर बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय प्रेसवार्ता के दौरान जगह नहीं मिलने से दुखी दिखे..तिलमिलाए विधायक चलती प्रेसवार्ता से बाहर निकल आये.

सुनामी ब्यूरो रिपोर्ट…

LEAVE A REPLY