इतिहास में पहली बार छत्तीसगढ़िया बजट पेश :–ऋत्विक मिश्रा

*मुख्यमंत्री ने चुनाव से पहले किए गए वादों को पूरा किया*

*बजट से सभी वर्ग को लाभ *

*कृषि क्षेत्र में साढ़े इक्कीस हजार करोड़ का प्रावधान कर ,किसानों का सम्मान बढ़ाया *

बलौदाबाजार । छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार छत्तीसगढ़िया बजट पेश हुआ है ।इस बजट से समाज के हर वर्ग में खुशी का माहौल है ।किसानों के हित में बजट प्रस्तुत कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चुनाव के पहले किए गए वादे को पूरा किया है ।इससे साबित होता है कि कांग्रेस पार्टी कोरे जुमलेबाजी नहीं करती बल्कि अपने वादे को पूरा करती है ।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रस्तुत वर्ष 2019 – 20 बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ऋत्विक मिश्रा ने उक्त बातें कही ।उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जोर देकर कहा था कि छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी ,नरवा ,गरुवा ,घुरवा बारी  इसी मिशन को लेकर बजट में सबसे ज्यादा कृषि पर फोकस किया गया है ,और कृषि क्षेत्र के लिए साढ़े इक्कीस हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।किसानों का कर्जामाफी एवं धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपयेकर मुख्यमंत्री ने जहाँ किसानों से किए अपने वादे को पूरा किया है तो हर परिवार को 35 किलो चावल देने की बात कर गरीबों के साथ मध्यम वर्ग के लोगों को भी लाभ पहुंचाने का काम किया है। सुपेबेड़ा के शुद्ध पेयजल की योजना बनाकर गरीब कमार आदिवासी परिवारों के प्रति सरकार की संवेदनशीलता प्रदर्शित होती है ।पुलिस आरक्षक से लेकर निरीक्षक स्तर तक के पुलिस जवानों के लिए रिस्पॉन्स भत्ता के प्रावधान से पुलिस परिवारों में खुशी की लहर है ।सड़क , शिक्षा ,स्वास्थ्य ,सिंचाई ,बिजली , पेयजल ,जैसे बुनियादी सुविधाओं के लिए बजट में पर्याप्त प्रावधान कर मुख्यमंत्री ने समाज के हर वर्ग को खुश करने की कोशिश की है ।सतनामी समाज के धर्म स्थलों गिरौदपुरी तथा भंडार पुरी एवं दामाखेड़ा के लिए 5 – 5 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है ।घरेलू बिजली बिल 400 यूनिट तक आधा करने से बिजली बिल से परेशान आम लोगों को राहत मिली है ,तो पाँच हार्सपावर तक किसानों को निःशुल्क बिजली देकर किसानों की स्थिति सुधारने का प्रयास किया गया है।वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ऋत्विक मिश्रा ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने वास्तव में छत्तीसगढ़िया लोगों का मान सम्मान बढ़ाने का काम किया है।

LEAVE A REPLY