रीवा । किसान के समृद्ध एवं सशक्त होने पर ही विकसित होगा प्रदेश – पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल

प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने त्योंथर में 4 हजार 853 किसानों को 18 करोड़ 25 लाख 41 हजार 938 रूपये फसल ऋण माफी के प्रमाण पत्र वितरित किया तथा जिन किसानों ने फसल ऋण की अदायगी कर दी सम्मान स्वरूप उन्हें ताम्रपत्र वितरित किया। उन्होंने कहा कि किसान के समृद्ध एवं सशक्त होने पर ही प्रदेश का विकास संभव होगा। मंत्री ने कहा कि जब किसान खुशहाल होगा तभी प्रदेश आगे बढ़ेगा।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के खुशहाली के लिये कटिबद्ध है। प्रदेश में सरकार बनते ही मुख्यमंत्री ने एक घंटे के अंदर किसान फसल ऋण माफी की स्वीकृत दी। किसानों के हित के लिये कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी। मुख्यमंत्री ने गेंहू के समर्थन मूल्य पर 165 रूपये बोनस की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सरकार बनने पर पहली फाइल किसान ऋण माफी की स्वीकृत दी है। यह सरकार किसानों, गरीबों, मजदूरों, महिलाओं का विकास करने के लिये बनी है। मुख्यमंत्री ने दूसरी स्वीकृत कन्या विवाह की दी उन्होंने 25 हजार रूपये की राशि को बढ़ाकर 51 हजार रूपये कर दी है। इसमें 48 हजार रूपये सीधे कन्या के खाते में जमा किये जायेगे। हमने हितग्राही मूलक योजनाओं से विचौलियों की भूमिका को समाप्त करने की पहल की है।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि हमारी सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ाकर 600 रूपये कर दिया। एक वर्ष के अंदर इसे एक हजार रूपये कर दिया जायेगा। 60 वर्ष से ऊपर के किसानों को एक हजार रूपये पेंशन दी जायेगी। हर ग्राम पंचायत में गौशाला एवं कानी हाउस का निर्माण किया जायेगा। मंत्री ने कहा कि यह सरकार त्रि-स्तरीय पंचायत राज संस्था को सशक्त बनायेगी तथा पंचायत प्रतिनिधियों को अधिकार संपन्न बनाया जायेगा। आजीविका मिशन के तहत स्वसहायता समूहों को स्वरोजगार से जोड़ा जायेगा। महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दिया जायेगा। मंत्री श्री पटेल ने घोषणा की कि त्योंथर के 100 बिस्तरीय अस्पताल भवन के निर्माण के लिये प्रशासनिक अधिकारी भूमि का चिन्हांकन कर लें। भवन निर्माण के लिये पूर्व से ही राशि की स्वीकृत मिली हुई है।
जिला पंचायत के सीईओ मयंक अग्रवाल ने प्रतिवेदन रखते हुये कहा कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के अन्तर्गत जिले के 99 हजार किसानों की पहचान की गयी। इसमें से 92 हजार किसानों ने हरे और सफेद फार्म भर दिये हैं। 89 हजार किसानों की इंट्री पोर्टल में कर ली गयी है। 84 करोड़ रूपये की राशि का आवंटन फसल ऋण माफी योजना के अन्तर्गत प्राप्त हुआ है। किसान सम्मेलन में समाजसेवी गुरूमीत सिंह मंगू, त्रियुगी नारायण शुक्ल, राजेन्द्र मिश्र, रमाशंकर सिंह, जनपद अध्यक्ष श्रीमती गीता माझी, कलेश्वर सिंह, सुनीता माझी, विकास सिंह, लक्ष्मी शंकर, हिमांशु गर्ग, गंगा प्रसाद द्विवेदी ब्रम्हानन्द शर्मा, विद्यावती पटेल, ओमप्रकाश मिश्र व्यथित, एसडीएम के.के. पाठक सहित जनप्रतिनिधि एवं किसान उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY